सोनी प्रियरंजन स्मृति सम्मान से सम्मानित की गई शिक्षिकाएं

    104

    शिक्षक ही समाज को मुख्यधारा में ज़ोर सकते है
    डेस्क:मिशन टू करोड़ चित्रांश अंतराष्ट्रीय बिहार महिला प्रकोष्ठ की ओर से शिक्षक दिवस समापन समारोह पर पांच शिक्षकों को सोनी प्रियरंजन शिक्षक सम्मान से सम्मानित किया गया ।स्व सोनी प्रियरंजन शिक्षक थी और महिलाओं को आत्मनिर्भर बनाने के दिशा में वर्षों से कार्यरत थी।2020 में कोरोना से निधन हो गया था ।मिशन उनके याद में शिक्षकों को सम्मानित करती है।सम्मानित किए जाने वाली शिक्षकों में ओपेन्ड माइंड विडला स्कूल की प्रीति सिन्हा, शिवम कॉन्वेंट की निलिमा सिन्हा, संगीत की सपना कर्ण,किलकारी हनुमान नगर की मनीषा सिन्हा, कॉन्वेंट एकेडमी मैनपुरा की रश्मि सिन्हा,ब्यूटीशियन केंद्र पटेल नगर ज्योति कर्ण प्रमुख थी।अध्यक्षता महिला प्रकोष्ठ के अध्यक्ष श्वेता श्रीवास्तव ने की।शिक्षकों को सम्मानित करते हुए मिशन के अध्यक्ष व जदयु के प्रदेश सचिव मनोज लाल दास मनु ने कहा कि शिक्षक ही समाज के लोगो को उनके दायित्व का बोध करा सकते है।शिक्षकों को सम्मान देकर ही समाज को मुख्यधारा में जोड़ कर नए समाज की कल्पना कर सकते है।सही अर्थों में समाज का रीढ़ शिक्षक ही माने जाते है।दिवंगत सोनी प्रियरंजन को याद कर हम समाज मे शिक्षक समुदाय का सम्मान कर रहे है।श्वेता श्रीवास्तव ने शिक्षकों से आह्वान की वे आगे आकर समाज के नौनिहालों को नई दिशा दे ताकि समाज मे नई क्रांति हो सके।इस अवसर पर सम्मानित शिक्षक प्रीति सिन्हा ,नीलिमा सिन्हा और सपना कर्ण ने सोनी प्रियरंजन को नमन करते हुए उनके नाम को जीवित रखने के लिये मिशन को बधाई दी तथा कही की इससे शिक्षक शब्द के सार्थकता को नया आयाम मिलेगा।इस अवसर पर गायक मनोज कुमार भी उपस्थित थे।