मधुबनी – बीडीओ से सवाल पूछने पर पत्रकार के साथ दुर्व्यवहार, मामला हरलाखी प्रखंड का

बिहार में आए दिन अफसरशाही देखने को मिल रहा है। एक तरफ जहां लोकतंत्र के चौथे स्तंभ पत्रकार अपनी जान जोखिम में डालकर हर अपराधिक घटनाओं व आमजनो की समस्याओं को दिखाती है तो वही दूसरी तरफ पद के नशे में चूर अफसरों द्वारा पत्रकार के साथ दुर्व्यहार किया जाता है। शुक्रवार को ऐसा ही एक मामला हरलाखी प्रखंड के फुलहर पंचायत से सामने आया है। जहां विगत दिनों वार्ड संख्या 08 में बिना कार्य योजना का बोर्ड लगाए नाला निर्माण में अनियमितता को लेकर ग्रामीणों ने संवेदक व विभागीय पदाधिकारी के खिलाफ रोष पूर्ण प्रदर्शन कर जमकर नारेबाजी किया था। ग्रामीणों के विरोध पर उक्त मामले को लेकर अखबारों में समाचार प्रकाशित हुई थी। जिसके बाद शिकायत के पांच दिन बाद हरलाखी के प्रखंड विकास पदाधिकारी कृष्ण मुरारी योजना की जांच करने कार्य स्थल पर पहुंचे। जांचोंपरांत स्थल पर मौजूद एक हिन्दी दैनिक अखबार के पत्रकार ने उनसे जांच के विषय में सवाल पूछ  तो बीडीओ ने सवाल का जबाव नहीं देकर दुर्व्यवहार करते हुए पत्रकार का मोबाइल छीनने का प्रयास किया । साथ ही बिना कुछ बताए ही निकल गए। इधर इस मामला को लेकर पत्रकारों में काफी नाराजगी है। उक्त मामले पर बीडीओ कृष्ण मुरारी ने सवाल पूछने पर बताया की मैने मोबाइल बंद करने के लिए बोला। पत्रकार ने बिना परिचय वीडियो बनाना शुरू कर दिए थे। बतादे की वीडियो में स्पष्ट देखा व सुना जा सकता है की पत्रकार के सवाल पर बीडीओ बौखला गए और उन्होंने बदसलूकी करते हुए मोबाइल छीनने का प्रयास किया। पत्रकार ने जब जांच के विषय में पूछा तो बीडीओ ने बताया की प्रथम दृश्या सही है। जिसके बाद प्राक्कलन की राशि की जानकारी को लेकर सवाल किया गया तब बीडीओ ने पहले पत्रकार से परिचय पूछा। परिचय देने के बाद बीडीओ कह रहे है की एस्टीमेट की मांग किए है, मोबाइल बंद कीजिए। जिसके बाद पत्रकार जब बीडीओ से उनका परिचय पूछते है तो बीडीओ उनके मोबाइल को छीनने का प्रयास करते है। उक्त घटना पर डीडीसी विशाल राज ने बताया की मामला संज्ञान में नहीं आया है