बिहार के सुख,शांति,विकास व समृद्धि के मधेपुरा सांसद दिनेश चंद्र यादव ने पुरी के जगन्नाथ मन्दिर मे माथा टेका

364

मंदिर वैष्णव परम्पराओं और संत रामानन्द से जुड़ा हुआ है

सहरसा: मधेपुरा सांसद दिनेश चन्द्र यादव ने गुरुवार को उड़ीसा के पुरी स्थित जगन्नाथ मंदिर में राज्य एवं क्षेत्र के विकास, सुख, शांति एवं समृद्धि के लिए भगवान श्रीकृष्ण की पूजा-अर्चना की । सांसद ने कहा कि यह पुरी का श्री जगन्नाथ मन्दिर एक प्रसिद्ध मन्दिर है, जो भगवान जगन्नाथ (श्रीकृष्ण) को समर्पित है। यह भारत के ओड़िसा राज्य के तटवर्ती शहर पुरी में स्थित है। जगन्नाथ शब्द का अर्थ जगत के स्वामी होता है। इनकी नगरी ही जगन्नाथपुरी या पुरी कहलाती है। यह मन्दिर चार धामों में से एक है। यह वैष्णव सम्प्रदाय का मन्दिर है, जो भगवान विष्णु के अवतार श्री कृष्ण को समर्पित है। इस मन्दिर का वार्षिक रथ यात्रा उत्सव प्रसिद्ध है। इसमें भगवान जगन्नाथ, उनके बड़े भ्राता बलभद्र एवं बहन सुभद्रा, तीन अलग-अलग भव्य और सुसज्जित रथों में विराजमान होकर नगर की यात्रा को निकलते हैं। श्री जगन्नाथपुरी पहले नील माधव के नाम से पूजे जाते थे। जो भील सरदार विश्वासु के आराध्य देव थे। अब से लगभग हजारों वर्ष पूर्व भील सरदार विष्वासु नील पर्वत की गुफा के अन्दर नील माधव जी की पुजा किया करते थे। मध्य-काल से ही यह उत्सव अति-हर्षोल्लास से मनाया जाता है। यह मंदिर वैष्णव परम्पराओं और संत रामानन्द से जुड़ा हुआ है। इस पंथ के संस्थापक श्री चैतन्य महाप्रभु भगवान की ओर आकर्षित हुए थे और कई वर्षों तक पुरी में रहे भी थे।