वायरस के नए स्ट्रेन से बचाव का एकमात्र उपाय है टीकाकरण : डी.आई.ओ.

231

कोविड-19 टीकाकरण : 10 करोड़ टीकाकरण के करीब पहुंचा बिहार, जिले में लगाए गए 17.58 लाख डोज

वैक्सीन का महत्व समझकर शुक्रवार को 20 हजार लोगों ने लगवाया कोरोना रोधी टीका

मधेपुरा:  कोरोना से सुरक्षा के लिए कोविड19 का टीका लेना महत्वपूर्ण है। जिले में शत- प्रतिशत लोगों के टीकाकरण सुनिश्चित कराने को लेकर स्वास्थ्य विभाग कटिबद्ध है। जिले में लक्षित शत -प्रतिशत लोगों के टीकाकरण के लिए लगातार टीकाकरण का महाअभियान चलाकर स्वास्थ्य विभाग लोगों को टीका लगा रहा है। कोविड-19 टीकाकरण की राह पर बिहार 10 करोड़ खुराक पूर्ण करने के करीब पहुंच चुका है। जिले में टीकाकरण की रफ्तार में तेजी देखने को मिल रही है। कोविन पोर्टल के अनुसार 16 जनवरी से अबतक जिले में कुल 17 लाख 58 हजार से अधिक डोज लगाए जा चुके हैं। लगाए गए कुल डोज में प्रथम खुराक लेने वालों की संख्या लगभग 10 लाख 63 हजार है । वहीं 6 लाख 95 हजार लोगों ने टीके की दोनों डोज लेकर अपना टीकाकरण पूर्ण कर लिया है। शुक्रवार को अभियान चलाकर शाम 6 बजे तक करीब 20 हजार लोगों को कोरोना रोधी टीके का डोज लगाया गया।नए स्ट्रेन से बचाव का एक मात्र उपाय है टीकाकरण :

जिले के प्रतिरक्षण पदाधिकारी डॉ विपिन कुमार गुप्ता कहते हैं कि फिलवक्त कोरोना के नए स्ट्रेन ओमिक्रोन से बचाव के लिए एकमात्र उपाय कोविड टीकाकरण ही है। टीके की प्रथम डोज के बाद दूसरा डोज़ लिए बिना पूर्ण सुरक्षा संभव नहीं है। कोविड की दूसरी डोज़ के बाद ही शरीर में एंटीबॉडी का निर्माण होता है। तब शरीर कोरोना से लड़ने के लिए तैयार होता है । कोरोना का टीका जिले के सभी व्यक्तियों तक पहुंचाने के लिए स्वास्थ्य विभाग प्रतिबद्ध है। उन्होंने बताया कि टीकाकरण अभियान की सफलता के लिए जिले में शुक्रवार को एक बार फिर 246 केंद्रों पर मेगा टीकाकरण अभियान चलाया गया जिसमें शाम 6 बजे तक करीब 20 हजार लोगों को वैक्सीन का डोज लगाया गया। उल्लेखनीय है कि विभाग द्वारा 31 दिसंबर से पूर्व लक्षित जनसंख्या की प्रतिरक्षित करने का लक्ष्य रखा गया है। टीकाकरण अभियान को मिल रही गति, टीके का महत्व समझकर लोग लगवा रहे वैक्सीन :

डॉ विपिन कुमार गुप्ता ने बताया, जिले में करीब सभी सेशन साइटों पर मेगा कोविड ड्राइव के तहत विशेष वैक्सीनेशन शिविर का आयोजन लगातार किया जा रहा है । सभी सेशन साइटों पर लोगों की भीड़ देखी जा रही है । टीके का महत्व समझकर सभी लोग उत्साह के साथ वैक्सीनेशन कराते दिख रहे हैं । यह व्यापक स्तर पर बड़े सकारात्मक बदलाव का संकेत है। उन्होंने बताया, लगातार लोगों का सकारात्मक सहयोग मिल रहा है। जिसका परिणाम यह है कि अबतक जहाँ पूरे प्रदेश में टीका लेने वालों की संख्या 10 करोड़ के करीब पहुंच गई है।