मेगा कैम्प लगाकर जिले में किया जा रहा है कोविड रैपिड एंटीजन टेस्ट: डा० अवधेश कुमार

1120

लक्ष्य अनुरूप उपलब्धि आवश्यक

संबंधितों को दिये जा चुके हैं आवश्यक दिशा निर्देश

सहरसा: मुख्य सचिव एवं प्रधान सचिव, स्वास्थ्य विभाग, बिहार, पटना द्वारा जिलाधिकारी कौशल कुमार को विडियो कॉन्फ़्रेंसिंग के माध्यम से दिये गये निर्देश के आलोक में जिलाधिकारी ने जिले में कोरोना संक्रमितों की पहचान के लिए रैपिड एंटिजेन टेस्टिंग का मेगा कैम्प लगाये जाने संबंधी आदेश जारी किया था। उक्त आदेश के आलोक में आज जिले के सभी स्वास्थ्य संस्थानों में लक्ष्य निर्धारित करते हुए रैपिड एंटीजन टेस्ट किये जा रहे हैं । वहीं डा. अवधेश कुमार सिविल सर्जन सह सदस्य सचिव, जिला स्वास्थ्य समिति, सहरसा ने जिले के सभी स्वास्थ्य संस्थानों के संबंधित पदाधिकारियों को आदेश दिया है कि वे अपने स्वास्थ्य संस्थान में रैपिड एंटीजन न टेस्टिंग के मेगा कैम्प का आयोजन करते हुए निर्धारित लक्ष्य की प्राप्ति कराना सुनिश्चित करेंगे।ससमय करें पोर्टल पर डाटा का संधारण
सिविल सर्जन डा. अवधेश कुमार ने कहा सभी स्वास्थ्य संस्थान मेगा कैम्प के तहत अपने यहाँ रैपिड एंटीजन टेस्ट करते हुए डाटा का संधारण पोर्टल पर करना सुनिश्चित करें ताकि पोर्टल पर जिले की उपलब्धि ससम्य परिलक्षित होने पाये। उन्होंने कहा किसी भी परिस्थिति में लक्ष्य से कम उपलब्धि होने पर दंडात्मक कार्रवाई की जा सकती है। इसलिए आवश्यक है कि जिले के सभी स्वास्थ्य संस्थान को दिये गये लक्ष्य के अनुरूप रैपिड एंटीजन न टेस्ट करना सुनिश्चित करें। उन्होंने बताया जिले में आज 13 स्थानों पर इस मेगा कैम्प के तहत रैपिड एंटीजन टेस्ट किये जा रहे हैं। उनमें से दस संस्थान सदर अस्पताल सहरसा, कहरा, पंचगछिया, महिषी, सौर बाजार, सोनवर्षा, सिमरी बख्तियारपुर, नवहट्टा, सलखुआ एवं पतरघट को 400 टेस्ट करने का लक्ष्य दिया गया है, वहीं बनमा ईटहरी को 250 तथा शहरी स्वास्थ्य केन्द्र नियामत टोला एवं सहरसा बस्ती को 150-150 टेस्ट करने के लक्ष्य दिये गये हैं।प्रेरित करने के लिए जीविका एवं आर्इ0सी0डी0एस0 से लिया जायेगा सहयोग
लाभार्थियों को अधिक से अधिक संख्या में प्रेरित (मोबलाइज )करने के लिए आर्इ0सी0डी0एस0 एवं जीविका से समन्वय स्थापित कर सहयोग प्राप्त करते हुए उक्त उपलब्धि प्राप्त करना सुनिश्चत करेंगे। इसके लिए जिला कार्यक्रम प्रबंधक (जीविका) एवं जिला कार्यक्रम प्रबंधक (आई0सी0डी0एस0) को भी निदेशित किया जा चुका है। जिले में चल रहे मेगा कैम्प की उपलब्धि ससमय सुनिश्चित होने पाये इसके लिए जिला मूल्यांकन एवं अनुश्रवण पदाधिकारी, जिला स्वास्थ्य समिति, सहरसा को भी उचित निदेश जारी किये गये हैं।

संभावित कोरोना की तीसरी लहर के लिए जरूरी है कोविड टेस्ट
सिविल सर्जन डा. अवधेश कुमार ने बताया संभावित कोरोना की तीसरी लहर एवं हमारे आस-पास कोरोना संक्रमितों की पहचान कर उनका ससमय इलाज कर ठीक करने के उद्देश्य से जिले में मेगा कैम्प का आयोजन कर रैपिड एंटीजन टेस्ट किये जा रहे हैं। ताकि संक्रमितों की पहचान करते हुए संक्रमण विस्तार पर रोक लगायी जा सके।