26 से ज़िले में चलेगी वैक्सीन एक्सप्रेस : डीएम

1102

वैक्सिनेशन मोबाइल वैन को जिलाधिकारी फ्लैग ऑफ कर रवाना करेंगे

सहरसा: कोरोना महामारी को परास्त करने एवं इससे बचाव के लिए टीकाकरण हीं सबसे महत्वपूर्ण उपाय है। लक्षित समूह के सभी नागरिक टीकाकरण से स्वयं को प्रतिरक्षित कर समाज को भी सुरक्षित करें। सभी जिलावासियों से अपील है कि जब भी उनके क्षेत्र में कोविड टीकाकरण सेशन साइट आयोजित किए जाएं तो वे बिना किसी भ्रम एवं भ्रांति के उस जगह पर जाकर टीकाकरण कराते हुए अपने आपको प्रतिरक्षित कराएं और सुरक्षित रखें।जिलाधिकारी कौशल कुमार ने जिलावासियों से वीडियो क्लिप के माध्यम से उक्त संदेश देते हुए कोविड टीकाकरण कराने की अपील की है। इसी संदर्भ में अपने कार्यालय वेश्म में टीकाकरण कार्यक्रम के आयाम को विस्तार देने के उद्देश्य से उप विकास आयुक्त राजेश कुमार सिंह,सिविल सर्जन डॉ० अवधेश कुमार,जिला प्रतिरक्षण पदाधिकारी डॉ० कुमार विवेकानंद,डी.पी.एम. विनय रंजन एवं टीकाकरण कार्यक्रम में संलग्न डेवलपमेंट पार्टनर्स के साथ समीक्षात्मक बैठक की। 26 मई से 21 चिन्हित पंचायतों में टीकाकरण सेशन साइट आरंभ की जा रही है। उल्लेखनीय है कि इस संबंध में जिलाधिकारी के निर्देश पर उप विकास आयुक्त की अध्यक्षता में उक्त सभी चिन्हित 21 पंचायतों के मुखिया जनप्रतिनिधि के साथ बैठक की गई। सभी मुखिया जनप्रतिनिधियों को उनके स्तर से टीकाकरण हेतु लोगों को जागरूक एवं प्रेरित करने के निर्देश दिए गए। टीकाकरण के लिए चिन्हित सभी पंचायतों में एक-एक टीम की प्रतिनियुक्ति की गई है जो स्थानीय मुखिया के मार्गदर्शन में पंचायत के अलग-अलग स्थानों में जाकर 45 वर्ष से अधिक आयुवर्ग के लोगों के टीकाकरण का कार्य करेगी। यह टीम उन पंचायतों में तब तक रहेगी जब तक उक्त पंचायत के शत प्रतिशत व्यक्तियों का टीकाकरण पूर्ण न हो जाय। इन पंचायतों के टीकाकरण सेशन साइट पर अगल-बगल पंचायतों के व्यक्ति भी अपनी सुविधानुसार टीकाकरण करा सकते हैं। इसके अतिरिक्त कल दिनांक 26 मई को वैक्सिन एक्सप्रेस के रूप में 12 वैक्सिनेशन मोबाइल वैन को जिलाधिकारी फ्लैग ऑफ कर रवाना करेंगे जिसके माध्यम से विभिन्न पंचायतों/बाजार/हाट इत्यादि भीड़-भाड़ वाले स्थलों पर जाकर 45 वर्ष से अधिक आयुवर्ग के लोगों का टीकाकरण किया जाएगा। निर्देश दिया गया कि चिन्हित 21 पंचायतों पर विशेष फोकस करते हुए इसके अतिरिक्त जिन पंचायतों में टीकाकरण की ज्यादा मांग होगी वहां भी सेशन साइट आयोजित करें। सेशन साइट आयोजन के एक दिन पूर्व स्थानीय लोगों को टीकाकरण के संबंध में सूचना प्राप्त हो एवं वातावरण तैयार हो इसके लिए जनप्रतिनिधि, आशा, जीविका दीदी एवं अन्य स्थानीय कर्मी लोगों को जागरूक एवं प्रेरित करेंगे।

उप विकास आयुक्त को निर्देश दिया गया कि टीकाकरण टीम के लिए आवष्यकतानुसार प्रखंड स्तर से कार्यरत डाटा इन्ट्री ऑपरेटर की प्रतिनियुक्ति की जाय। महिषी प्रखंड अन्तर्गत वीरगांव, नहरवार, पस्तवार, बघवा एवं तेलहर पंचायत में, कहरा प्रखंड अन्तर्गत पटुआहा, चैनपुर एवं मोहनपुर पंचायत में, नौहट्टा प्रखंड अन्तर्गत चन्द्रायण, शाहपुर, नौला एवं सतौर पंचायत में, सत्तरकटैया में शाहपुर एवं औकाही पंचायत में, सोनवर्षा प्रखंड अन्तर्गत सहसौल, देहद एवं मंगवार पंचायत में, सिमरी बख्तियारपुर प्रखंड अन्तर्गत रामपुरा एवं खजुरी तथा सौर बाजार प्रखंड अन्तर्गत बैजनाथपुर एवं कांप दक्षिणी पंचायत में टीकाकरण सेशन साइट आयोजित किये जाएंगे।साथ हीं तीन टीकाकरण टीम को रिजर्व में रक्षित करने का निर्देश दिया ताकि कार्य स्थलों एवं विभिन्न विभागों में जरूरत एवं मांग के अनुसार भेजकर टीकाकरण किया जा सके।

उल्लेखनीय है कि रेलवे, विद्युत, पुलिस, पषुपालन, कारा सहित विभागीय कर्मियों के लिए सेशन साइट आयोजित कर टीकाकरण का कार्य किये गये हैं। जिलाधिकारी ने कहा जो मुखिया जनप्रतिनिधि टीकाकरण कार्यक्रम में अच्छा कार्य करेंगे उन्हें प्रोत्साहित किया जाएगा। साथ हीं जिलाधिकारी ने दूसरे डोज के टीकाकरण कवरेज कम रहने पर निर्देष दिया कि जिनका प्रथम डोज के टीकाकरण के उपरांत निर्धारित अवधि पूरी हो गई है उन्हें फोन कर बुलायें और उन्हें निष्चित रूप से टीका प्राप्त करने का अनुरोध करते हुए उनका टीकाकरण कराएं। लगभग दो हजार व्यक्ति जिन्हें प्रथम डोज का टीका दिया गया है निर्धारित अवधि पूरा होने के पष्चात दूसरे डोज का टीकाकरण नहीं कराया है उनसे दूसरे डोज का टीकाकरण कराने हेतु जिलाधिकारी ने अपील की है। होम आइसोलेषन में रह रहे पॉजिटिव मरीजों के ट्रेकिंग के लिए हिट अप्लिकेषन के संबंध में समीक्षा की।

जिलाधिकारी ने निर्देष दिया कि इस अप्लिकेषन पर ऑक्सीजन लेवल कम होने पर पॉपअप का तुरंत संज्ञान लेते हुए मरीज को तुरंत ऑक्सीजन सहित बेहतर उपचार उपलब्ध करायी जाय। सिविल सर्जन को अपने स्तर से भी अनुश्रवण करने का निर्देष दिया गया। साथ हीं उनके संज्ञान में भी देने का निर्देष दिया गया। एन्टीजन टेस्ट का विवरण पोर्टल पर ससमय अपलोड नहीं होने के कारण बैकलॉग रहने पर एम.एन.ई. को चेतावनी देते हुए आज संध्या तक बैकलॉग समाप्त कर अपडेट करने का निर्देष दिया गया साथ सिविल सर्जन को नियमित रूप से अनुश्रवण करने को कहा गया।