राईस मिलर एवं पैक्स ससमय सीएमआर जमा कराए : डीएम

964

CMR एवं आपूर्ति विभाग की बैठक में डीएम ने दिए निर्देश

सहरसा: खरीफ विपणन मौसम 2020-21 के अंतर्गत धान अधिप्राप्ति में सीएमआर के संदर्भ में गुरूवार को विकास भवन के सभागार में जिलाधिकारी कौशल कुमार की अध्यक्षता में सभी प्रखंड सहकारिता प्रसार पदाधिकारी, सहायक गोदाम प्रबंधक, राइस मिलरों के संचालकों एवं पैक्स अध्यक्षों  के साथ समीक्षात्मक बैठक हुई। बैठक में समाहर्त्ता में विशेष कार्य पदाधिकारी, जिला सहकारिता पदाधिकारी एवं जिला प्रबंधक एस.एफ.सी. भी मौजूद थे।

बैठक में जानकारी दी गई कि  धान अधिप्राप्ति वर्ष 2020-21 में अधिप्राप्ति धान समतुल्य सीएमआर की मात्रा 1560 लॉट के विरू़द्ध 1197 लॉट की आपूर्ति की गई है जबकि 1347 लॉट के लिए एस.टी.आर. राज्य खाद्य निगम द्वारा निर्गत किए गये है। निर्गत एसटीआर के विरूद्ध 150 लॉट सीएमआर की आपूर्ति राईस मिलरों द्वारा अबतक नहीं की गई है।

जिलाधिकारी ने गंभीरता से लेते हुए जिन राईस मिलरों एवं पैक्सों द्वारा सीएमआर जमा नहीं किए गये है उनसे बारी बारी से समीक्षा की गई । मार्च एवं अप्रैल 2021 में लंबित 16 लॉट सीएमआर अबतक जमा नहीं किए जाने को लेकर क्षोभ व्यक्त करते हुए संबंधित पैक्स को यथाशीघ्र राज्य खाद्य निगम के चावल संग्रहण केन्द्र पर सीएमआर जमा कराने के निर्देष दिए गये।  वहीं निर्देश दिए गये कि माह मई 2021 मे इंफोर्समेंट जिन पैक्सों को निर्गत किए गये है वे प्राथमिकता के आधार पर  30 मई तक अंतिम रूप से शतप्रतिशत सीएमआर जमा कराना सुनिश्चित करेगे। जिलाधिकारी ने हिदायत देते हुए कहा कि जो भी राईस मिलर एवं पैक्स ससमय सीएमआर जमा नहीं करायेगें, डिफाल्टर होने की स्थिति में  उनके विरू़द्ध सख्त कानूनी कारवाई की जायेगी ।

जिलाधिकारी ने कहा कि प्रधानमंत्री गरीब कल्याण अन्न योजना एवं राष्टीय खाद्य सुरक्षा के अंतर्गत माह मई एवं जून 2021 का निषुल्क खाद्यान्न प्राप्त सीएमआर से किया जाना है। अतएव जितने  इफोर्समेंट निर्गत सीएमआर लॉट अवषेश है, जल्द से जल्द जमा कराना सुनिष्चित करें। जिलाधिकारी ने कहा कि सीएमआर की गुणवत्ता को लेकर कहीं कहीं शिकायते प्राप्त हुई है। सभी सहायक गोदाम प्रबंधक मानक के अनुरूप गुणवत्ता का ही सीएमआर प्राप्त करेंगें। साथ ही निदेश दिया गया कि जिस राईस मिल का सीएमआर गुण्वत्ता में खराब पाया जायेगा उनके विरू­द्ध कारवाई की जायेगी। जिला सहकारिता पदाधिकारी को ससमय सीएमआर  जमा कराने के लिए जिम्मेदारी दी गई । पैक्सों द्वारा गनी बैग की समस्या के संदर्भ में संबंधित पंचायत के जन वितरण प्रणाली के दुकानदारों से समंवय कर गनी बैग की उपलब्धता सुनिश्चित कराने के निर्देश दिए गये।

जिलाधिकारी ने राईस मिलरों से कहा कि सरकार द्वारा अरवा चावल को उसना चावल में कन्वर्ट करने हेतु  मशीन/सयंत्र अधिष्ठान आदि हेतु प्रौत्साहन प्रदान की जा रही है। मिलर सरकार की इस प्रोत्साहन नीति का लाभ उठायें एवं उसना चावल के लिए मिलों मे संयंत्र लगाये। सभी राईस मिल अपने यहां उसना चावल के लिए सयंत्र अवश्य लगा लें। अगले सीजन में मिल से उसना चावल ही देने का प्रयास करें।

जिलाधिकारी ने कहा कि जिला अंतर्गत मात्र 112 पैक्सों को ही अपना गोदाम है । शेष पैक्सों को अपना गोदाम नहीं रहने से काफी समस्या होती है अपेक्षित अधिप्राप्ति नहीं हो पाती है। साथ ही भंडारण की क्षमता को बढाना अति आवश्यक है। सभी पैक्स को अपना गोदाम होना चाहिए इस संबंध  में सरकार का भी निर्देश है। जिन पैक्सों के पास अपना गोदाम नहीं है ज़िला सहकारिता पदाधिकारी संबंधित अंचलाधिकारी से समन्वय कर सरकारी भूमि उपलब्ध कराने हेतु सार्थक प्रयास करेंगे।सरकारी भूमि उपलब्ध नही होने की स्थिति में विभागीय निर्देशानुसार पैक्स लीज पर भूमि लेकर गोदाम निर्माण हेतु आवश्यक कार्रवाई करेंगे। इसे प्राथमिकता देते हुए क्रियान्वित करने के निदेश दिए गए।

सभी ट्रांसपोर्टर को निदेश दिए गए हो रहे बारिश को देखते है CMR के परिवहन में वाहन को सही ढंग से ढक कर ले जाएंगे ताकि चावल का बैग पानी से नही भींगे। एक भी बैग भीगा रहने पर CMR किसी भी स्थिति में स्वीकार नही करने के निर्देश दिए गए।