मास्क वितरण,समुदायिक किचेन ,टीकाकरण को लेकर BDO एवं जीविका के साथ समीक्षात्मक बैठक की

511
मई माह में दो माह का खाद्यान्न लाभुकों को मुफ्त उपलब्ध कराया जाएगा
सहरसा: जिलाधिकारी कौशल कुमार ने वीडिओ कान्फ्रेंसिंग के माध्यम से पंचायतों में हर परिवार के बीच मास्क वितरण, प्रखंड स्तर पर सामुदायिक किचन का संचालन, 18-44 आयुवर्ग एवं 45 वर्ष से उपर के व्यक्तियों को कोविड टीकाकरण एवं अन्य विषयों के संदर्भ में समीक्षात्मक बैठक की। बैठक में उप विकास आयुक्त राजेश कुमार सिंह, जिला पंचायतीराज पदाधिकारी, प्रभारी पदाधिकारी आपदा, डीपीएम जीविका भी उपस्थित थे।    पंचायत स्तर पर प्रति परिवार 6-6 अदद मास्क वितरण की समीक्षा में प्रखंडवार मास्क की उपलब्धता एवं वितरण की समीक्षा की गई। समीक्षा में जीविका दीदीयों द्वारा मास्क तैयार कर आपूर्ति एवं इसके वितरण के संदर्भ में जानकारी दी गई कि महिषी प्रखंड अन्तर्गत 2,05,200 मास्क प्राप्त हुए हैं जिनमें से 15 पंचायतों में 1,30,000 मास्क का वितरण किया गया है। पतरघट में प्राप्त 35,400 के विरूद्ध 6 पंचायत में 3,000, सोनवर्षा में प्राप्त 72,000 के विरूद्ध 6 पंचायतों में 20,000, कहरा में प्राप्त 56,400 के विरूद्ध 4 पंचायतों में 35,334,सत्तरकटैया में प्राप्त 76,000 के विरूद्ध 14 पंचायतों में 21,203, बनमा ईटहरी में प्राप्त 43,000 के विरूद्ध 2 पंचायतों में 12,500, सौर बाजार में प्राप्त 25,500 के विरूद्ध 6 पंचायतों में 18,900, सलखुआ में प्राप्त 10,000 के विरूद्ध 3 पंचायतों में 5,982 एवं नौहट्टा में प्राप्त 10,400 के विरूद्ध 2 पंचायतों में 1,000 मास्क का वितरण किया गया है। वहीं सिमरी बख्तियारपुर में अन्य प्रखंडों के जीविका दीदीयों द्वारा 1,44,000 मास्क की आपूर्ति की गई जिसे 12 पंचायत अंतर्गत 1,10,000 मास्क का वितरण किया गया।
जिलाधिकारी ने समीक्षोपरांत जीविका दीदीयों के माध्यम से मास्क के उत्पादन में तेजी लाने एवं शीघ्र वितरण का निर्देश दिया गया। सिमरी बख्तियारपुर प्रखंड विकास पदाधिकारी को तटबंध के अंदर पंचायतों में सभी परिवारों को मास्क का वितरण कराने के निर्देश दिए गये। नौहटटा एवं सलखुआ प्रखंड में जीविका दीदीयों द्वारा मास्क के उत्पादन एवं आपूर्ति की धीमी प्रगति पर डीपीएम जीविका को उन प्रखंडों में जाकर समन्वय करते हुए तेजी लाने का निर्देष दिया।
 सिमरी बख्तियारपुर प्रखंड के जीविका दीदीयों द्वारा मास्क का उत्पादन नहीं किये जाने के संदर्भ में कहा कि संबंधित प्रखंड के जीविका दीदीयों के माध्यम से हीं मास्क का उत्पादन कराया जाय ताकि वे लाभ से वंचित ना हो। साथ हीं मास्क का भुगतान ससमय सुनिष्चित कराने के निर्देश दिये गये। उन्होंने कहा कि सभी परिवारों को मास्क उपलब्ध कराया जाना है, कोई परिवार छूटे नहीं। प्रखंड स्तर पर संचालित सामुदायिक किचन के संदर्भ में समीक्षा की गई। जिलाधिकारी ने कहा कि सामुदायिक किचन का मूल उद्देष्य इस आपदा के समय निराश्रित/निर्धन/जरूरतमंद एवं जो प्रतिदिन के आय पर निर्भर हैं उन्हें भोजन मुहैया कराना है। सभी प्रखंडों में एवं जिलास्तर पर सामुदायिक किचन आरंभ किया गया है। भोजन की गुणवता में समझौता नहीं होना चाहिए। अच्छी गुणवता का भोजन उपलब्ध कराएं। टेबुल, कुर्सी पर खाने की समुचित व्यवस्था सुनिष्चित करें। साफ-सफाई, टेंट, लाइट आदि की अच्छी व्यवस्था रखें। सोशल डिस्टेंसिंग का पालन एवं सेनेटाइजर की व्यवस्था सुनिष्चित कराएं।
सत्तरकटैया में सामुदायिक किचन आरंभ नहीं किये जाने पर क्षोभ व्यक्त करते हुए कल सुबह से सामुदायिक किचन आरंभ करने का निर्देष दिये गये। साथ हीं कहा गया कि सामुदायिक किचन के लिए ऐसा स्थान चिन्हित करे कि जहां लोग सुगमता पूर्वक आकर भोजन कर सके। सभी अंचलाधिकारियों को प्रतिदिन 11 बजे पूर्वाह्न में पूर्व दिवस में लाभान्वित का प्रतिवेदन निष्चित रूप से भेजने का निर्देश दिया गया।
कोविड टीकाकरण की समीक्षा में कहा कि 18-44 आयुवर्ग के व्यक्तियों के टीकाकरण हेतु सभी 10 प्रखंडों एवं जिलास्तर पर 1-1 टीकाकरण केन्द्र संचालित किये जा रहे हैं जहां पूर्व से निबंधित व्यक्तियों का हीं टीकाकरण किया जाना है। टीकाकरण हेतु आन स्पाॅट निबंधन की सुविधा इस आयुवर्ग में अभी उपलब्ध नहीं है। जिस तिथि को जिन व्यक्तियों का निबंधन हुआ है उनका टीकाकरण उसी तिथि को होगा। उन्होंने निर्देश दिया कि टीकाकरण केन्द्र पर 18-44 एवं 45 से उपर के आयु के व्यक्तियों के लिए अलग-अलग टीकाकरण कक्ष सुनिष्चित कराएंगे। टीकाकरण केन्द्रों पर सोशल डिस्टेंषिंग का पालन कराते हुए टीकाकरण का कार्य सम्पन्न कराएं। सभी प्रखंड विकास पदाधिकारियों को निर्देष दिये गये कि वे टीकाकरण केन्द्रों पर 9 बजे पहुँचकर टीकाकरण कार्य को व्यवस्थित कराने में सहयोग करें। जिले के 27 कलस्टर पर 45 वर्ष से अधिक आयु के जीविका दीदी एवं उनके परिवारों के लिए टीकाकरण सत्र आरंभ किया जा रहा है। सभी जीविका दीदी एवं उनके परिवार जनों का निष्चित रूप से टीकाकरण कराएं एवं जो दीदी 18-44 आयुवर्ग की हैं उनका टीकाकरण हेतु निबंधन भी साथ-साथ कराएं।
जिलाधिकारी ने कहा कि क्षेत्र स्तर पर टीकाकरण के प्रति लोगों को जागरूक एवं प्रेरित करें। टीकाकरण को लेकर लोगों के संषय एवं भ्रांतियों को दूर करते हुए अधिक से अधिक संख्या में लोगों को टीकाकरण के लिए प्रेरित करें। आने वाले दिनों में कोविड टीकाकरण महत्वपूर्ण कार्य रहेगा। क्योंकि कोरोना संक्रमण के रोकथाम एवं नियंत्रण में सबसे कारगर एवं एकमात्र उपाय टीकाकरण हीं है।      जिलाधिकारी ने बताया कि मई माह में दो माह का यथा-प्रधानमंत्री गरीब कल्याण अन्न योजना एवं राज्य सरकार द्वारा उपलब्ध कराये जा रहे खाद्यान्न का निःषुल्क एक साथ जन वितरण प्रणाली के माध्यम से लाभार्थियों उपलब्ध कराया जाना है। सभी प्रखंड विकास पदाधिकारी प्रातः 8 बजे एस.एफ.सी. गोदामों पर खाद्यान्न के अनलोडिंग एवं डीलर को डिस्पेच कार्य का पर्यवेक्षण करेंगे ताकि एस.एफ.सी. गोदाम में एफ.सी.आई./सी.एम.आर. से प्राप्त खाद्यान्न के लिए स्थान बनी रहे तथा साथ हीं  डीलर को खाद्यान्न का डिस्पैच समय पर हो। प्रति डीलर दोनों प्रकार के खाद्यान्न एक साथ हीं डिस्पैच किये जाएंगे।