सहरसा और सुपौल के सात अपराधी गिरफ्तार,हथियार,कॉरेक्स बरामद

1910
कोरोना लॉक डाउन में पुलिस को मिली बड़ी सफलता

सहरसा पुलिस ने अपराध की योजना बनाते चार अपराधियों को हथियार के साथ गिरफ्तार किया.पकड़े गए अपराधियों के पास से एक पिस्टल,6 कारतूस,1देशी कट्टा,2ज़िंदा कारतूस,1 अपाची बाइक,1 हीरो होंडा मोटर साइकिल,2कार्टून कोरेक्स और 5 मोबाइल बरामद किया गया है

सहरसा : किसी बड़े अपराध की घटना को अंजाम देने की फिराक में रहे चार अपराधियों को सहरसा पुलिस ने गिरफ्तार किया है. पकड़े गए अपराधियों के पास से हथियार भी मिला है. रविवार को एसपी लिपि सिंह ने अपराधियों के गिरफ्तारी का खुलासा किया ।एसपी लिपि सिंह ने बताया कि बीती देर रात  सूचना मिली कि सदर थाना क्षेत्र के गोबरगढा स्थित नहर पर 7-8 अपराधी हथियार से लैस होकर बड़ी घटना करने की फिराक में थे. इसी सूचना के आधार पर एसडीपीओ संतोष कुमार के नेतृत्व में सदर थानाध्यक्ष राजमणि,एसआई सतेन्द्र सिंह,जितेंद्र कुमार,एएसआई पतरिंग पासवान,नकुल पासवान,पंकज कु० गुप्ता की विशेष छापेमारी दल का गठन किया गया. छापामारी दल ने चारों अपराधियों को हिरासत में लेकर पूछताछ की, साथ ही तलाशी ली. तलाशी के दौरान इनके पास से एक 7.65एमएम की एक पिस्टल,6 गोली,1 देशी कट्टा,2कारतूस,2मोटरसाइकिल,5मोबाईल एवं 2 कार्टून कोरेक्स बरामद किया गया है.।

एसपी ने बताया कि गिरफ्तार अपराधियों के निशानदेही पर सुपौल ज़िले के किशनपुर थाना क्षेत्र से 2 एवं सदर थाना सहरसा के गंगजला में छापेमारी कर 1 अपराधी को गिरफ्तार किया गया ।
गिरफ्तार अपराधियों के नाम
पकड़े गए अपराधियों में सुपौल ज़िले के गढ़ बरूआरी के अभिजीत कुमार,किशनपुर सुपौल के परुषोतम कुमार,ओमप्रकाश यादव,सहरसा के बिहरा थाना के मुकेश कुमार,नीरज कुमार, सदर थाना क्षेत्र के भेलवा से अभिषेक कुमार एवं गंगजला से उत्कर्ष कुमार है।कई थानों में पूर्व से दर्ज हैं मामले,जा चुके है जेल
एसपी के अनुसार सभी गिरफ्तार अपराधियों का पूर्व से आपराधिक इतिहास रहा है। ज़िले के कई थानों में इनके ऊपर संगीन मामले पूर्व से भी दर्ज है और कई कांडों में जेल भी जा चुके है। गिरफ्तार अपराधी अभिजीत कुमार पर सदर थाना में 7,बिहरा थाना में 2 एवं बनगांव थाना में 1,अभिषेक शर्मा पर सदर थाना में 2,बिहरा में 1,परुषोतम कुमार पर सदर थाना सहरसा में 2,मुकेश कुमार पर बिहरा और सौरबाजार थाना में 1-1,नीरज और उत्कर्ष पर सदर थाना में 1-1 मामले दर्ज है।