आपदा के दौर में महाराणा प्रताप की प्रासंगिकता अधिक, जरूरतमंदों की मदद ही होगी सच्ची श्रद्धांजलि : किशोर कुमार

जयंती पर याद किए गए महाराणा प्रताप 

सहरसा : महाराणा प्रताप की जयंती पर आज नव निर्माण मंच कार्यालय तिरंगा चौक पर जयंती समारोह का आयोजन किया गया, जहां उनकी तस्वीर पर पूर्व विधायक व नवनिर्माण मंच के संस्थापक किशोर कुमार ने पुष्प अर्पण कर उन्हें नमन किया।

इस दौरान उन्होंने कहा कि वीर शिरोमणि क्षत्रिय सम्राट महाराणा प्रताप शौर्य, त्याग, पराक्रम व स्वाभिमान के प्रतीक, मेवाड़ी रत्न, सनातन धर्म रक्षक, वीरता, धर्म, संस्कृति, नीति सिद्धांत, देश भक्ति व स्वाभिमान के प्रतीक थे। उन्होंने मातृ भूमि के लिए अपना सर्वस्व न्योछावर कर दिया। आज वे देश के हर एक नागरिक के लिए प्रेरणा स्रोत हैं।

उन्होंने अपने संबोधन में कहा कि महाराणा प्रताप जीवन भर देश के लिए समर्पित रहे। उन्होंने सिर्फ आजादी की लड़ाई नहीं लड़ी, बल्कि गरीब गुरवा लोगों को भी उनका हक दिलाने के लिए लड़ते रहे। आज के तारीख में उनका प्रासंगिकता और भी बढ़ गयी है, जब देश महामारी के संकट से जूझ रहा है। तब समाज के वैसे लोग जो सक्षम हैं, उन्हें आगे आकर जरूरतमंदों की मदद करना चाहिए। आज वो देश का दुश्मन, मुगल व विदेशी ताकत दवाई का कालाबाजारी करने वाला, ऑक्सीजन सिलिंडर, असप्ताल के बेड को बेचता है।किशोर कुमार ने कहा कि आज आपसे में लड़ने का वक़्त नहीं है। हमारा दुश्मन वही है जो समाज को कष्ट पहुंचाता है। इसलिए आज महाराणा की जयंती पर हम ये संकल्प लेते हैं कि हम उनका अनुसरण करते हुए जरूरतमंद लोगों की मदद करेंगे।

इस मौके पर कन्हैया सिंह, प्रवीण सिंह, अभिजीत सिंह, नंन्हे सिंह, दीपक पौद्दार, रवि शेखर, करणजीत सिंह, अभिजीत सिंह रघुवंशी, मनीष कुमार उपस्थित रहे।