जिलाधिकारी द्वारा वैक्सीनेशन कार्य का किया गया निरीक्षण

मंडल कारा सहरसा में आरंभ किया गया कोविड वैक्सीनेशन कार्य- जिला प्रतिरक्षण पदाधिकारी

45 या इससे अधिक आयुवर्ग के सभी कैदियों का किया जाना है टीकाकरण
सहरसा : जिले में बढ़ते कोरोना सक्रमण के मामलों को देखते हुए जिले में अवस्थित मंडल कारा सहरसा में 45 या इससे अधिक आयुवर्ग के कैदियों का टीकाकरण कार्य का आरंभ कर दिया गया है। मंडल कारा में बंद कैदियों एवं जेल कर्मियों के स्वास्थ्य को ध्यान में रखते हुए उठाया गया यह कदम।बंदियों को पहले चरण में टीका लगाने का कार्य आज आरंभ
जिला प्रतिरक्षण पदाधिकारी डा. कुमार विवेकानंद से बताया मंडल कारा सहरसा के 45 वर्ष या उससे अधिक आयुवर्ग के सभी बंदियों को पहले चरण में टीका लगाने का कार्य आज आरंभ कर दिया गया है। जिले में बढ़ते कोरोना संक्रमण के मामलों एवं जेलों में बंद कैदियों तथा जेल कर्मचारियों के स्वास्थ्य सुरक्षा को देखते हुए वैक्सीनेशन किया जाना जरूरी था। उन्होंने कहा मंडल कारा में वैश्विक महामारी कोरोना के दौरान जेल में संचालित की जाने वाली प्रत्येक गतिविधियों में शारीरिक दूरी का ध्यान रखा जाता है। कैदी अपने स्वजन भाई-बहन से मुलाकात न के बराबर करें-
डा. कुमार विवेकानंद ने कैदियों से अनुरोध किया कि वर्तमान कोरोना काल में कैदी अपने स्वजन भाई-बहन से मुलाकात न के बराबर करें, यदि अतिआवश्यक होने पर करना पड़े तो तो कोविड नियमों का कठोरता से पालन करते हुए करें। वहीं उन्होंने जेल में कार्यरत कर्मचारियों से भी अनुरोध किया वे बंदियों से शारीरिक दूरी बनाये रखें ताकि उनके संक्रमित होने की स्थिति में बंदियों को कोरोना संक्रमण न होने पाये।जिलाधिकारी द्वारा वैक्सीनेशन कार्य का किया गया निरीक्षण-
मंडल कारा सहरसा में आज आरंभ किये गये बंदियों का कोरोना टीकाकरण कार्य का जायजा लेने जिलाधिकारी कौशल कुमार भी पहुंचे । इस दौरान जिलाधिकारी ने जेल अधीक्षक को निर्देश दिया कि बंदियों से शारीरिक दूरी बनाये रखें और यदि किसी कैदी में कोरोना के कुछ भी लक्षण मिलते हैं तो उनका कोविड टेस्ट कराते हुए इस बात की पुष्टि करें कि उनमें यह लक्षण कोरोना के है या नहीं, ताकि समय रहते उनका इलाज किया जा सके।

मौके पर सदर एसडीओ शंभूनाथ झा,जिला प्रतिरक्षण पदाधिकारी डा कुमार विवेकानंद, डीपीएम विनय रंजन,युएनडीपी के भीभीसीएम मोहम्मद मुमताज खालिद , स्वास्थ्य कर्मचारी सौरभ कुमार सिंह तथा जेल अधीक्षक एवं अन्य स्वास्थ्य कर्मी एवं जेल के कर्मी मौजूद थे|