कोरोना से बेखौफ भीड़,मेले में लोगों का जमावड़ा-नाच गाने का इंतजाम

सोशल डिस्टेंसिंग, कोविड प्रोटोकॉल की उड़ी धज्जियां

सहरसा में सिर्फ कोरोना ही बेकाबू नहीं हो रहा है, बल्कि लोगों की लापरवाही भी बड़े स्तर पर देखने को मिल रही है. ये ऐसी लापरवाही है जहां पर न कोरोना का कोई खौफ है और ना ही सोशल डिस्टेंसिंग का ध्यान. ताजा मामला सहरसा ज़िले के चिरैया ओपी का है जहां पर सिद्दू बाबा के वार्षिक मेले पर तमाम कोरोना प्रोटोकॉल को ताक पर रखा गया और खूब धूम-धाम से कार्यक्रम का आयोजन हुआ.

बताते चले कि जिले के सलखुआ प्रखंड के कोसी तटबंध के अंदर फरकिया दियारा के चिरैया ओपी क्षेत्र अंतर्गत सौथि में गुरुवार की रात्रि कोरोना गाइडलाइन की जमकर धज्जियां उड़ाई गयी। जहां पूरा देश कोरोना महामारी को लेकर घर मे कैद होकर रह गए हैं, वहीं कोरोना को नजर अंदाज करते हुए गांव-घर मे मेला कमिटी के लोग मेला लगाना अपनी शान समझते हैं।
 सोशल मीडिया पर वायरल हो रहा तस्वीर और वीडियो चिरैया ओपी क्षेत्र के साम्हरखुर्द पंचायत के सौंथि गांव की है। जहां सिद्दू बाबा के अवसर पर प्रत्येक वर्ष लोग मेला का आयोजन करते आये हैं लेकिन कोरोना महामारी से जहां देश लड़ रहा है वहां इस इलाके के लोग बड़ी मस्ती से कोरोना गाइडलाइन की धज्जी उड़ाते दिख रहे हैं।
हालांकि प्रशासन द्वारा एक जगह पर चार व्यक्ति के खड़ा न रहने की अपील भी की जा रही है। वहां सैकड़ों की झुंड में लोग सांस्कृतिक कार्यक्रम का आयोजन कर ठुमके लगाते और बार बालाओं के डांस का लुप्त उठाते दिख रहे हैं।
मेला में लगे भीड़ को देख यह अंदाजा लगाया जा सकता है कि कैसे समाजिक दूरी की अवहेलना करते हुए नाइट कर्फ्यू का धज्जियां उड़ाने से यहां के लोग पीछे नहीं हट रहे हैं। जबकि ना ही किसी के चेहरे पर मास्क नजर आ रहा है, ऐसे में कोरोना के संक्रमण का चैन तोड़ पाना मुश्किल साबित हो रहा है। सबसे ताज्जुब व आश्चर्य की बात यह है कि जहां प्रशासन द्वारा भीड़-भाड़ इलाके में धारा 144 लगाई गई है, वहां लोग सांस्कृतिक कार्यक्रम में खूब मस्ती में झूम रहे हैं।