टीकाकरण को लेकर स्वास्थ्य विभाग गंभीर,आप भी बने भागीदार

865

पारा मेडिकल कॉलेज टीकाकरण पर वैक्सीन की कमी होने पर तुरंत किया गया इंतजाम

सोमवार को 200 लक्ष्य के विरूद्ध 320 का हुआ था टीकाकरण, नहीं लौटे कोई लाभार्थी

कोशी डिवीजन के जिलों के और लिए कोविड के और 15000 डोज आबंटित

सहरसा: यदि आपकी उम्र 45 वर्ष से अधिक है और आप इस बात से चिंतित हैं कि कहीं टीके की कमी से आप टीकाकरण से वंचित न हो जाएं तो आपके लिए एक खुशखबरी है। टीकाकरण सत्रों पर सभी लोगों को टीकाकृत करने के दिशा में स्वास्थ्य विभाग गंभीरता से कार्य कर रहा है। पात्रता के दायरे में आने वाले हर व्यक्ति को कोरोना से बचाव का टीका लग जाए, इसके लिए अब हर रोज टीकाकरण किया जा रहा है। एक अप्रैल से कोरोना से बचाव के लिए टीकाकरण का चौथा चरण चल रहा है। टीकाकरण को लेकर जहां एक तरफ जिले के कुछ एक केंद्रों पर लोगों की कम भीड़ दिखी वहीं दूसरी तरफ सदर अस्पताल परिसर स्थित पारा मेडिकल कॉलेज के टीकाकरण केंद्र पर सोमवार को उम्मीद से ज्यादा भीड़ देखने को मिली। बताते चले कि सोमवार को इस केंद्र पर 200 लोगों को टीका लगाने का लक्ष्य रखा गया था। लेकिन शाम तक यहां टीका लेने वाले लोगों की संख्या में इजाफा होता गया। जिस कारण इस केंद्र पर अंतिम में बचे लगभग 40 लोगों के लिए पुनः जिले के जिला प्रतिरक्षण पदाधिकारी डॉ. कुमार विवेकानंद ने खुद पहल करते हुए वैक्सीन को उपलब्ध कराया।

सलखुआ के स्वास्थ्य केंद्र पर बचे वैक्सीन को खुद लेकर आए जिला प्रतिरक्षण पदाधिकारी:

पारा मेडिकल कॉलेज टीकाकरण केंद्र पर अतिरिक्त वैक्सीन उपलब्ध करने के लिए जिले के सिविल सर्जन डॉक्टर अवधेश कुमार को जब सूचना दी गई तो उन्होंने इस तत्काल संज्ञान में लेते हुए जिला प्रतिरक्षण पदाधिकारी डॉ कुमार विवेकानंद को सूचित किया एवम् वैक्सीन की आपूर्ति सुनिश्चित करने को कहा। जिला प्रतिरक्षण पदाधिकारी ने शीघ्रता से समन्वय करते हुए सलखुआ प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्र से खुद ही वैक्सीन को नियमनुसार कूरियर द्वारा सदर अस्पताल के पारा मेडिकल टीकाकरण केंद्र पर उपलब्ध कराया। इसके बाद इस केंद्र पर शेष बचे लगभग 40 लाभार्थियों का टीकाकरण कार्य पूर्ण किया गया।क्या कहते हैं पदाधिकारी

जिले के सिविल सर्जन डॉक्टर अवधेश कुमार कहते हैं कि जिले में किसी भी टीकाकरण केंद्र पर वैक्सीन की कोई कमी ना हो इसके लिए स्वास्थ्य विभाग के पदाधिकारी एवम् कर्मी इसका विशेष रूप से ध्यान रखते हैं।वह बताते हैं- यह आपसी समन्वय एवम् सूझ-बूझ का भी नतीजा है ही सोमवार को पारा मेडिकल कालेज केंद्र पर उम्मीद से ज्यादा लाभार्थियों के आने के बावजूद भी किसी को लौटकर जाना नहीं पड़ा। सभी का टीकाकरण किया गया। उन्होंने ने जिला प्रतिरक्षण पदाधिकारी डॉक्टर कुमार विवेकानंद एवम् यू एनडीपी के भीसीसीएम् मो. मुमताज खालिद के इस सकारात्मक प्रयास की प्रशंसा भी की।जिला प्रतिरक्षण पदाधिकारी डॉ कुमार विवेकानंद कहते हैं की राज्य स्तर से चरणबद्ध तरीके से टीकाकरण किए जाने का निर्देश है। इसी अनुरूप वैक्सीन की उपलब्धता भी राज्य स्तर से सुनिश्चित कराई जाती है। जिले में वैक्सीन की उपलब्धता एवम् इसकी आपूर्ति की मात्रा में कौन से टीकाकरण केंद्र पर किया जाना है यह कार्य यूएनडीपी के सहयोग से किया जाता है । वह बताते हैं कि पारा मेडिकल कॉलेज में अतिरिक्त लाभार्थियों को टीका लेने में परेशानी ना ही इसे लेकर सलखुआ प्राथमिक स्वास्थ्य केन्द्र पर उपलब्ध अतिरिक्त वैक्सीन को तुरंत पुल किया गया एवम् सा ही नियमो का पालन करते हुए वायल की आपूर्ति सफलतापूर्वक किया गया।

सिविल सर्जन ने बताया राज्य टीकाकरण भंडार से मंगलवार को भी क्षेत्रीय टीकाकरण भंडार कोसी डिवीजन को और 15000 डोज आवंटित किए जाने की सूचना प्राप्त हुई है। उक्त 15000 डोज में से 4500 डोज सहरसा के लिए तथा 5500-5500 डोज मधेपुरा एवम् सुपौल के लिए प्राप्त होगी।