आयुक्त एवं डीआईजी ने डीएम,एसपी से ली कोरोना की जानकारी,दिए अहम दिशा-निर्देश

910

 तीनों ज़िले के डीएम,एसपी से ली कोरोना की जानकारी

सहरसा : प्रमंडलीय आयुक्त राहुल रंजन महिवाल ने अपने कार्यालय वेश्म से वीडीयो कान्फ्रेंसिंग के माध्यम से कोरोना संक्रमण की अद्यतन स्थिति एवं जिला प्रसाशन द्वारा इससे बचाव एवं रोकथाम हेतु की जा रही तैयारियां तथा कारवाई, कोविड टीकाकरण कार्य की प्रगति के अलावा डाॅ॰ भीम राव अम्बेडकर जयंती, चैती दुर्गा पूजा एवं छठ, रामनवमी, रमजान के अवसर पर कोविड गाइड लाईन के तहत विधि-व्यवस्था आदि के संदर्भ में कोशी प्रमंडल के तीनो जिलों सहरसा, मधेपुरा एवं सुपौल के जिलाधिकारी और पुलिस अधीक्षक के साथ पुलिस उप महानिरीक्षक की उपस्थिति में बैठक की।
उन्होंने कहा कि कोरोना संक्रमण में अप्रत्याषित वृद्धि हो रही है। संक्रमण से नागरिकों की सुरक्षा के साथ-साथ कोरोना महामारी प्रबंधन में लगे फ्रंटलाइन वर्कर की सुरक्षा भी काफी महत्वपूर्ण है। आने वाले दिनों में चैती दुर्गा पुजा एवं छठ, रामनवमी, रमजान आदि पर्व त्यौहार के अवसर पर कोविड गाइड लाईन के दिशा-निर्देशों का अनुपालन करते हुए इसके आलोक में विधि-व्यवस्था का संधारण सुनिश्चित कराया जाना है ताकि संक्रमण से आमजन का बचाव किया जा सके। कल बाबा साहब भीमराव अम्बेदकर जयंती भी है। उपरोक्त संदर्भ में जिलास्तर पर संवेदनशीलता के साथ आवश्यक कारवाई सुनिष्चित करें।    जिलावार समीक्षा में सहरसा के जिलाधिकारी कौशल कुमार ने कहा कि कोरोना संक्रमण के दूसरे फेज में 09 मार्च 21 से अबतक 44408 सेम्पल की जाँच की गई है जिसमें से 497 व्यक्ति संक्रमित पाये गये हैं। 74 पाॅजिटिव मरीज रिकवर कर गए हैं और वर्तमान में 417 पाॅजिटिव एक्टिव मामले हैं। साथ हीं 5 पाॅजिटिव मरीजों को बेहतर ईलाज के लिए रेफर किया गया है तथा 01 व्यक्ति की मृत्यु प्रतिवेदित हुई है। ज्यादा से ज्यादा संख्या में आर.टी.पी.सी आर. के माध्यम से संक्रमण की जाँच की जा रही है। जिले का रिकवरी दर 95 प्रतिशत है। जिलाधिकारी ने कहा कि वर्तमान परिदृष्य में सबसे अधिक संक्रमण के मामले शहरी क्षेत्र में पाए जा रहे हैं। जिले में कुल-85 कन्टेनमेंट जोन बनाए गए हैं। मास्क उपयोग को लेकर मास्क चेकिंग अभियान प्रतिदिन चलाये जा रहे हैं। लोगों में भी जागरूकता आ रही है। शहरी क्षेत्र में 90 प्रतिशत मास्क के उपयोग किये जाने की जानकारी मिल रही है। टीकाकरण कार्य में अब तक 77604 व्यक्तियों को प्रथम डोज का टीकाकरण किया गया है वहीं 9000 व्यक्तियों को दूसरे डोज का टीका दिया गया है। वैक्सीन की उपलब्धता के अनुसार अधिक से अधिक सेषन साइट्स सृजित कर अधिक संख्या में टीकाकरण की तैयारी की जा रही है। रामनवमी के अवसर पर विधि-व्यवस्था हेतु संयुक्त आदेश जारी किये जा रहे हैं। इसबार रामनवमी के अवसर पर जुलूस आदि के लिए लाइसेंस निर्गत नहीं किये जाएंगे।  मधेपुरा जिला के जिलाधिकारी श्याम बिहारी मीणा ने अपने जिले से संबंधित प्रतिवेदन से आयुक्त को अवगत कराते हुए कहा कि वर्तमान समय में 185 पाॅजिटिव मामले सामने आए हैं जिसमें से 144 पाॅजिटिव मामले सक्रिय है। 35 कन्टेनमेंट जोन बनाए गए हैं। अभी तक कोरोना संक्रमण से किसी व्यक्ति की मृत्यु की सूचना नही है। लगातार टेस्टिंग का कार्य किया जा रहा है और पूरी स्थिति पर नजर रखी जा रही है। मास्क के उपयोग के लिए जिला, अनुमंडल एवं प्रखंड स्तर पर दंडाधिकारी एवं पुलिस पदाधिकारी की प्रतिनियुक्त कर अभियान चालये जा रहे हैं। अबतक मास्क चेकिंग में 1,18000/-रू॰ जुर्माना राषि के रूप में वसूल की गई है। 76000 व्यक्तियों को टीकाकरण किया जा चुका है। जिले में संक्रमण की स्थिति में वृद्धि देखी जा रही है जो चिंताजनक है। मेडिकल काॅलेज में चार जिलों से आये आर.टी.पी.सी.आर. सेम्पल की जाँच कार्य संतोषजनक है और उनके द्वारा माॅनिटेरिंग की जा रही है। रामनवमी के अवसर पर किसी प्रकार का आयोजन नही किये जाएंगे इसके लिए शांति समिति की बैठक कर दिषा-निर्देषों से सभी को अवगत करा दिया गया है।
मधेपुरा पुलिस अधीक्षक संजय कुमार ने कहा कि जिलाधिकारी के साथ नियमित रूप से कोविड गाइड लाईन के अनुपालन हेतु निरीक्षण किये जा रहे हैं। संध्या 07ः00 बजे दुकान बंद नहीं करने की स्थिति में 10 दुकानों को सील किया गया है। स्थानीय मारवाड़ी समाज से इस संबंध में काफी सहयोग प्राप्त हो रहा है। सभी थानों को भीड़-भाड़ वाले क्षेत्र में मास्क का उपयोग सुनिष्चित कराने के निर्देश दिये गये है। अबतक 2400 लोगों से मास्क उपयोग को लेकर फाइन की वसूली की गई है। 
 जिलाधिकारी सुपौल महेन्द्र कुमार ने कहा कि जिले में 104 कोरोना संक्रमित पाॅजिटिव सक्रिय व्यक्ति हैं। 14 व्यक्तियों को बेहतर ईलाज के लिए रेफर किया गया है तथा शेष व्यक्ति का आइसोलेषन सेंटर एवं होम आइसोलेषन में उनका उपचार हो रहा है। आर.टी.पी.सी आर. के माध्यम से अधिक से अधिक जाँच की जा रही है। मास्क को लेकर पुलिस एवं दंडाधिकारियों की प्रतिनियुक्ति की गई है। जागरूकता के लिए हर पंचायत स्तर पर माईकिंग कराये जा रहे हैं। 87761 व्यक्तियों का टीकाकरण हुआ है। पूरे जिले में 48 कन्टेनमेंट जोन बने हैं। रामनवमी के अवसर जुलूस निकालने पर प्रतिबंध लगाये गये हैं। चैती दुर्गा पूजा एवं कलश यात्रा को लेकर लोगों को समझाया गया है।
पुलिस अधीक्षक सुपौल मनोज कुमार ने कहा कि ओडियो सिस्टम के माध्यम से सभी पंचायतों के चौक-चैराहों पर माईकिंग से काफी अच्छा प्रभाव पड़ा है। संध्या 07ः00 बजते हीं टीम निकल जाती है। सभी पुलिस कर्मियों का टीकाकरण किया जा चूका है।    पुलिस उप महानिरीक्षक प्रणव कुमार प्रवीण ने निर्देश देते हुए कहा कि कोरोना संक्रमण काफी तेजी से बढ़ रहा है इसलिए सतर्कता हेतु लोगों को जागरूक करें इसके लिए माईकिंग प्रभावी माध्यम है साथ हीं जहां आवष्यक हो वहां दंडात्मक कार्रवाई भी की जाय। कोविड गाइड लाईन का पूरी तरह से अनुपालन सुनिष्चित कराएं। दुकानों पर सेनेटाइजर, सोषल डिस्टेंसिंग, मास्क आदि एहतियात के संबंध में बल दें। परिवहन में 50 प्रतिषत यात्रियों का निर्देष का सख्ती से अनुपालन कराएं। मुम्बई से आने वाली रेल गाड़ियां अथवा प्लाइट के माध्यम से आने वाले यात्रियों को चिन्हित करते हुए उनकी जाँच अवष्य कराएं। उन्होंने कहा कि वाहन चेकिंग में आवष्यक सेवाओं से जुड़ी वाहनों को अनावष्यक रूप से बाधित ना हो इसका ध्यान रखंे। रामनवमी में जुलूस नहीं निकलेंगें इस संबंध में शांति समिति की बैठक कर लोगों को अवगत करा दें।  आयुक्त ने सभी को निर्देश देते हुए कहा कि बढ़ते संक्रमण एवं आने वाले पर्व त्यौहार के अवसर पर इस संदर्भ में पूरी संवेदनषीलता सतर्कता एवं तत्परता से सरकार द्वारा जारी दिषा-निर्देषों का अक्षरशः अनुपालन सुनिष्चित कराएं।