मंत्री प्रमोद कुमार ने वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के जरिये बैठक  में लिया गन्ना उत्पादन को विस्तारित करने का निर्णय 

273
विचार-विमर्श कर कुछ महत्वपूर्ण निर्णय लिया
 
पटना : बिहार के गन्ना उद्योग एवं विधि विभाग मंत्री प्रमोद कुमार ने वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग द्वारा आयोजित विभागीय बैठक के दौरान वित्तीय वर्ष 2021-22 में मुख्यमंत्री गन्ना विकास कार्यक्रम के कार्यान्वयन एवं इससे संबंधित अन्य विषयों पर विचार-विमर्श कर कुछ महत्वपूर्ण निर्णय लिया, जिसमें गन्ना क्षेत्र में 25 प्रतिशत का विस्तार औऱ गन्ना के उत्पादन व उत्पादकता में वृद्धि प्रमुख है। यह बैठक उन्होंने विकास भवन नया सचिवालय में की, जहां विभाग के प्रधान सचिव, गन्ना आयुक्त, संयुक्त निदेशक (ईख विकास), संयुक्त ईखायुक्त एवं अन्य वरिष्ठ पदाधिकारी/वैज्ञानिक उपस्थित रहे।
बैठक में वित्तीय वर्ष 2020-21 में मुख्यमंत्री गन्ना विकास कार्यक्रम अंतर्गत अनुदान/प्रोत्साहन हेतु पूर्व में चयनित कुल 08 गन्ना प्रभेद में से किसी प्रभेद को हटाने या जाने हेतु सभी वैज्ञानिकों एवं चीनी मिलों को प्रतिवेदन भेजने का निर्देश दिया गया। इस पर समीक्षा के उपरान्त अंतिम निर्णय लेने की बात कही गयी। साथ ही Integrated Nutrient Management and Integrated Pest Management अवयव को वित्तीय वर्ष 2020-21 में मुख्यमंत्री गन्ना विकास कार्यक्रम अंतर्गत शामिल किये जाने का निर्णय लिया गया।
बैठक में गैर चीनी मिल क्षेत्र में संबंधित कृषि विज्ञान केन्द्रों के द्वारा आधार बीज उत्पादन करने पर सहमति व्यक्त किया गया।  गन्ना उद्योग विभाग एवं कृषि विभाग के समन्वय से करने वाले कार्यों के ऊपर चर्चा किया गया। चीनी मिल क्षेत्र में Master Trainer तैयार करने के लिए प्रशिक्षण देने हेतु बामेति, पटना के द्वारा सहमति व्यक्त किया गया। इसके अलावा  निदेशक, उद्यान निदेशालय, बिहार, पटना से गन्ने की खेती में Drip Irrigation पर चर्था की गयी। Drip Imgation पर 90 प्रतिशत अनुदान की व्यवस्था है। विभाग द्वारा इस योजना का प्रचार-प्रसार कराकर गन्ना किसानों को प्रोत्साहित किया जाएगा।