मंत्री,एमएलसी ने फीता काट कर शीत भंडार गृह का किया शुभारंभ

440

किसानों को मिलेगा फायदा

सहरसा : ज़िला मुख्यालय के शिवपुरी ढाला के निकट 2008 के कुशहा त्रासदी के बाद बंद पड़े विस्कोमान शीत भंडार गृह का पुनः आज शुभारंभ किया गया।बिहार सरकार के वन,पर्यावरण एवं जलवायु परिवर्तन मंत्री नीरज सिंह बबलू एवं विधानपार्षद नूतन सिंह के संयुक्त रूप से फीता काटकर किया गया।बताते चले कि पुनः इस विस्कोमान के चालू हो जाने से कोशी क्षेत्र के किसानों में काफी खुशी है।कुसहा त्रासदी के बाद विस्कोमान शीत भंडार के बन्द हो जाने के कारण क्षेत्रीय किसानों को फसल रखने में काफी परेशानी होती थी ज्यादातर किसान आलू की खेती करना बंद कर दिए।आलू उपजाने के बाद रख-रखाव में असुविधा होने की वजह से उन्हें मजबूरन किसानो को सस्ते दामो पर अपने उत्पाद को बेच देते थे।अब इस विस्कोमान शीत भंडार के पूनः चालू होने से फसल रख रखाव में काफी सहूलियत होगी।

इस मौके पर मंत्री नीरज सिंह बबलू ने कहा कि एनडीए की सरकार किसानों की आय दुगुनी करने के लिए विभिन्न प्रकार की योजनाएं संचालित कर रही है।कोशी का पहला विस्कोमान शीत भंडार जो कुशहा त्रासदी के बाद बंद हो गया था इससे किसानों को काफी परेशानी हो रही थी।इस बात को लेकर विस्कोमान के चैयरमेन से बात की गई कि कोशी प्रमंडल का एक मात्र शीत भंडार जो कुशहा त्रासदी के बाद से बंद हो गया है क्यो नही सरकार से पहल कर इसे चालू कराया जाय ताकि किसानों को पुनः इसकी सुविधा मिल सके और आज वह पुनः चालू कर दिया गया।
उन्होंने बताया कि  सुपौल में दो निजी शीत भंडार है जो किसान शीत भंडार खोलना चाहे उन्हें हमारी सरकार मदद करेगी।साथ ही उन्होंने ने बताया कि हमारी सरकार कोशी प्रमंडल में और भी विस्कोमान शीत भंडार खोलेगी ताकि किसानों को कोई परेशानी नही हो और उनकी आय दुगुनी हो सके इसके लिए सरकार किसानों के साथ कदम से कदम मिलाकर हमेशा खड़ी है।
इस मौके पर व्यवसायी अर्जुन चौधरी,प्रो० मिथिलेश झा,संजीव सिंह मुखिया,गौरी झा,राजीव सिंह राजू,सिद्धार्थ सिंह सिद्धू सहित कई किसान सहित बिस्कोमान के अधिकारी व कर्मी मौजूद थे ।