सहरसा में आरटीपीसीआर जांच लैब की होगी स्थापना: अश्विनी चौबे

1264

स्वास्थ्य एवं परिवार कल्याण राज्य मंत्री की अध्यक्षता में कोरोना से संबंधित समीक्षा बैठक

बैठक में कोविड टीकाकरण डाटा की समीक्षा

कला, संस्कृति एवम् युवा विभाग के मंत्री डॉ आलोक रंजन भी बैठक में रहे उपस्थित, उन्होंने कोविड का पहला डोज भी लिया

सहरसा: भारत सरकार के स्वास्थ्य एवं परिवार कल्याण मंत्रालय के राज्य मंत्री अश्विनी चौबे की अध्यक्षता में जिले के अतिथगृह में कोरोना से सम्बन्धित विषय पर रविवार को समीक्षा बैठक आयोजित की गई। यह समीक्षात्मक बैठक राज्य सरकार के कला, संस्कृति एवम् युवा विभाग के मंत्री डॉ आलोक रंजन एवम् जिला पदाधिकारी कौशल कुमार की उपस्थिति में की गई जिसमें जिले के सिविल सर्जन चिकित्सा पदाधिकारियों एवम् अन्य पदाधिकारियों ने भाग लिया। राज्य मंत्री ने समीक्षा बैठक में कोविड-19 टीकाकरण के मुद्दों पर विशेष रूप से चर्चा करते हुए जिले में अबतक हुए टीकाकरण के स्थिति की जानकारी ली। उन्होंने टीकाकरण से वंचित 45 से 59 वर्ष तक के गंभीर बीमारी से ग्रसित एवं 60 वर्ष एवं अधिक आयु वर्ग के व्यक्तियों को कोविड वैक्सीन का टीका लगाने संबंधी निर्देश दिए। साथ ही कहा कि आगामी 1 अप्रैल से 45 वर्ष के आयु के ऊपर के सभी लोगों का टीकाकरण किया जाना है इसके लिए स्वास्थ्य विभाग सभी आएश्यक तैयारी रखे।

जिला पदाधिकारी ने कोविड -19 टीकाकरण अभियान के आयोजन एवम् इसके तरह प्राप्त लक्ष्यों की दी जानकारी 

बैठक में जिला पदाधिकारी कौशल कुमार ने जिले में 16 जनवरी से अबतक हुए आयोजित टीकाकरण अभियान एवम् इससे जुड़े आंकड़ों की जानकारी दी। जिला पदाधिकारी ने बताया जिले में 16 जनवरी से 697 टीकाकरण सत्रों का आयोजन किया गया है । इन सत्रों में 7523 स्वास्थ्यकर्मियों को टीके का प्रथम डोज तथा 5100 स्वास्थ्यकर्मियों को द्वितीय डोज दिया जा चुका है। इन दोनों डोज में क्रमशः 95 एवम् अन्य 67 प्रतिशत के लक्ष्यों की प्राप्ति हुई है। वहीं 3018 फ्रंट लाइन कर्मियों को प्रथम डोज तथा 1091 को द्वितीय डोज दिया गया है जिसमें क्रमशः 133 एवम् 36 प्रतिशत लक्ष्यों की प्राप्ति हुई है। आगे जिला पदाधिकारी ने बताया जिले में 40 से 59 आयुवर्ग के 2343 तथा 60 वर्ष आयु के ऊपर वाले 26933 बुजुर्गों का टीकाकरण हुआ है। कुल आंकड़ों की बात की जाय तो अबतक जिले में आयोजित 697 टीकाकरण सत्रों के माध्यम से 39817 लोगों को पहला तथा 6191 लोगों ने दूसरा डोज दिया जा चुका है। टीकाकरण के लिए जिले को अबतक कुल 5738 वायल वैक्सीन उपलब्ध कराई गई है।

आरटीपीसीआर जांच के लिए सदर अस्पताल में स्थापित होगी लैब

समीक्षा बैठक के दौरान राज्य मंत्री अश्विनी चौबे ने कहा आगामी दिनों में आरटीपीसीआर सैंपल जांच के साथ साथ इसकी रिपोर्ट की व्यवस्था जिले में ही सुनिश्चित हो इसके लिए सहरसा में लैब की स्थापना की जाएगी। लैब की स्थापना होने के बाद आरटीपीसीआर रिपोर्ट प्राप्त करने में जिलावासियों को सुविधा होगी।

कला, संस्कृति एवम् युवा विभाग के मंत्री ने लिया कोविड -19 टीका का पहला डोज 

समीक्षा बैठक में भाग लेने के बाद राज्य सरकार के कला, संस्कृति एवम् युवा विभाग के मंत्री डॉ आलोक रंजन ने कोविड – 19 टीका का पहला डोज लिया। टीका लेने के बाद मंत्री डॉ आलोक रंजन ने कहा कोरोनावायरस से सुरक्षा के लिए टीकाकरण अनिवार्य है। चुकीं टीकाकरण चरणबद्ध तरीके से किया जा रहा है अतः बारी आने पर सभी टीका अवश्य लगवाएं यह पूर्ण रूप से सुरक्षित है ।

मौके पर जिलाधिकारी कौशल कुमार, सिविल सर्जन डॉ अवधेश कुमार, जिला प्रतिरक्षण पदाधिकारी डॉ कुमार विवेकानंद, डीएस डॉ एसपी विशवास, डीपीएम विनय रंजन, अस्पताल प्रबंधक अमित कुमार चंचल, जिला अनुश्रवण एवम् मूल्यांकन पदाधिकारी कंचन कुमारी आदि मौजूद थे ।