अन्य राज्यों में कोविड-19 के बढ़ते मामलों को ले रहें सजग: सिविल सर्जन

869

सरकार ने जारी किये आवश्यक दिशा-निर्देश

सहरसा: देश के विभिन्न राज्यों में कोविड- 19 के दिन प्रतिदिन बढ़ते मामलों एवं आसन्न होली त्यौहार के मद्देनजर स्वास्थ्य विभाग अलर्ट मोड में आ गया है | होली में कोरोना प्रभावित उन राज्यों से आने वाले लोगों को ध्यान में रखते हुए आवश्यक हो गया है कि लोग कोविड- 19 के संक्रमण से बचाव के नियमों का पालन जरूरी तौर पर करें।

सरकार ने जारी किये आवश्यक दिशा-निर्देश
सिविल सर्जन डाॅ. अवधेश कुमार ने कहा कि मार्च के अन्त में मनाये जाने वाली होली एवं वैसे राज्य जहाँ कोविड- 19 के नये मामले प्रतिदिन बढ़ते ही जा रहे हैं को देखते हुए राज्य सरकार ने आवश्यक दिशा-निर्देश जारी किये हैं। जिसके तहत जिले में महाराष्ट्र, केरल एवं पंजाब राज्य से आनेवाले रेल यात्रियों की रैपिड एण्टीजन किट के माध्यम से रैण्डम जांच कराये जाने तथा उसकी रिपोर्ट के आधार पर आगे की कार्यवाही करने का निर्देश दिया गया है।

आसन्न होली त्यौहार को देखते हुए यह महसूस किया जा रहा है कि पंचायतों में भारी संख्या में बाहर से लोग आयेंगे, उन पंचायतों में प्रचार-प्रसार कर कोविड- 19 की जांच कराने की अपील की जाने तथा आर.टी.पी.सी.आर. जांच के लिए नमूने एकत्रित किये जाने पर जोर दिया जाएगा। इसके लिए स्वास्थ्यकर्मी तथा पंचायत प्रतिनिधियों की भी मदद लिये जाने का निर्देश सरकार द्वारा दिये गये हैं।कोविड- 19 पाॅजिटिव केस पाये जाने स्थिति में माइक्रो कंटेनमेंट जोन गठित करने तथा इस संबंध में पूर्व से निर्गत निदेशों के आलोक में शत-प्रतिशत जांच एवं अन्य जरूरी कार्यवाही सुनिश्चित करने के निर्देश दिये गये हैं।

जिले में स्थापित कोविड केयर सेन्टर एवं डेडिकेडेट कोविड हेल्थ सेन्टर की सुविधाओं का सत्यापन कर उसे रेडी मोड में रखने के निदेश दिये गये हैं।सार्वजनिक स्थल पर किसी भी प्रकार के होली मिलन समारोह के आयोजन पर पाबंदी आने वाले होली त्यौहार में सार्वजनिक स्थल पर किसी भी प्रकार के होली मिलन समारोह के आयोजन पर पाबंदी रहेगी। साथ ही सार्वजनिक स्थलों एवं यातायात के साधनों में सामाजिक दूरी एवं मास्क के प्रयोग आदि नियमों का सख्ती से पालन लागू करवाने के भी निदेश जारी किये गये हैं।

कोविड-19 इन नियमों का करते रहें पालन 

– व्यक्तिगत स्वच्छता और 2 गज की शारीरिक दूरी बनाए रखें.
– बार-बार हाथ धोने की आदत डालें.
– साबुन और पानी से हाथ धोएं या अल्कोहल आधारित हैंड सैनिटाइजर का इस्तेमाल करें.
– छींकते और खांसते समय अपनी नाक और मुंह को रूमाल या टिशू से ढकें .
– उपयोग किए गए टिशू को उपयोग के तुरंत बाद बंद डिब्बे में फेंके.
– घर से निकलते समय मास्क का इस्तेमाल जरूर करें.
– बातचीत के दौरान फ्लू जैसे लक्षण वाले व्यक्तियों से कम से कम 2 गज की दूरी बनाए रखें.
– आंख, नाक एवं मुंह को छूने से बचें.
– मास्क को बार-बार छूने से बचें एवं मास्क को मुँह से हटाकर चेहरे के ऊपर-नीचे न करें .