प्रमंडलीय आयुक्त ने किया सदर अस्पताल का औचक निरीक्षण

866

परिसर में व्याप्त गंदगी की साफ- सफाई का निर्देश

सहरसा: मंगलवार को प्रमंडलीय आयुक्त राहुल महिवाल ने सदर अस्पताल का औचक निरीक्षण किया। निरीक्षण के दौरान उन्होंने सदर अस्पताल परिसर में व्याप्त गंदगी की साफ- सफाई का निर्देश सिविल सर्जन डा. अवधेश कुमार को दिया। मंगलवार की सुबह करीब दस बजे आयुक्त सीधे अस्पताल परिसर पहुंचकर हर वार्डों का निरीक्षण करना शुरू कर दिया।

अस्पताल में मौजूद उपाधीक्षक डा. एसपी विश्वास सहित अस्पताल प्रबंधक अमित कुमार चंचल के साथ आयुक्त राहुल महिवाल ने कई वार्डों का निरीक्षण करते हुए गहन शिशु चिकित्सा कक्ष गए। जहां उन्होंने मौजूद स्वास्थ्यकर्मियों से जानकारी ली। आयुक्त ने वार्डों सहित आउटडोर का निरीक्षण के दौरान खिड़की टूटी रहने एवं खुली रहने पर उसकी शीघ्र मरम्मती करने का निर्देश दिया । साथ ही सभी खिड़कियों में जाली लगाने को कहा। जिससे मच्छरों का प्रकोप कम हो सके। इसी बीच सिविल सर्जन डा. अवधेश कुमार वहां पहुंचे। तब तक आयुक्त कई विभागों का निरीक्षण कर चुके थे। आयुक्त ने इमरजेंसी वार्ड में जाकर मौजूद चिकित्सक से भर्ती मरीजों की संख्या पूछी और कहा कि गंभीर मरीजों को कहां रेफर किया जाता है। इस पर चिकित्सक ने कहा कि दरभंगा या पटना। आयुक्त ने आउटडोर मंजिल के ऊपरी तल पर कोविड 19 जांच केंद्र का भी जायजा लिया और ऑन स्पॉट कोरोना की जांच करवायी जो नेगेटिव निकला। इसके बाद वे ब्लड बैंक का निरीक्षण किया। निरीक्षण के दौरान ब्लड की उपलब्धता सहित डोनेट करने की प्रक्रिया की विस्तृत जानकारी ली। ब्लड डोनेशन की इच्छा जतायी तो जब उनका होमोग्लोबीन की जांच की गयी तो वह कम निकला। जिस कारण ब्लड डोनेशन नहीं कर पाएं। उन्होंने कहा कि हर व्यक्ति को ब्लड डोनेशन करना चाहिए। जीविका दीदी की रसोई घर का भी निरीक्षण किया। वहीं बंद पड़े आईसीयू को देख उन्होंने कहा कि यह बंद क्यों है। इस पर सिविल सर्जन ने कहा कि आईसीयू में काम चल रहा है। शीघ्र ही यह शुरू हो जाएगा। इसी बीच अस्पताल परिसर स्थित दुकानदारों ने दुकान खाली करने के नोटिस की जानकारी देते हुए उनसे कहा कि हमलोग को अस्पताल प्रशासन द्वारा ही जगह आवंटित किया गया था। इसके बाद भी हमें खाली करवाया जा रहा है। इससे हमारे परिवार के समक्ष भुखमरी की स्थिति उत्पन्न हो जाएगी। निरीक्षण के दौरान आयुक्त राहुल महिवाल ने कहा कि कोविड 19 के टीकाकरण व्यवस्था देखने आए थे। कोरोना पीडितों की संख्या देश में बढ रही है। इसीलिए इससे सबको बचना जरूरी है। मास्क सबों केा पहनना अनिवार्य है। इसके लिए शीघ्र ही बसों व ट्रेनेां में सघन रूप से अभियान चलाया जाएगा। सदर अस्पताल में दक्ष चिकित्सकों की कमी है। जिसके लिए सरकार को पत्र लिखा जा रहा है। अस्पताल परिसर में साफ सफाई और बेहतर होने की जरूरत है। हर बेड पर बेडसीट जरूरी है।

(दैनिक जागरण)