कदाचारमुक्त व शांतिपूर्ण संपन्न करायें सिपाही भर्ती परीक्षा : डीएम

299

विधि-व्यवस्था संधारण के संदर्भ मे संयुक्त ब्रीफींग में निर्देश दे रहे थे

सहरसा : केन्द्रीय चयन पर्षद (सिपाही भर्ती) द्वारा बिहार पुलिस संगठन में सिपाही पद पर नियुक्ति के लिए14 मार्च एवं 21मार्च को आयोजित लिखित परीक्षा काफी महत्वपूर्ण परीक्षा है। कदाचार मुक्त एवं शांतिपूर्ण वातावरण में परीक्षा सम्पन्न कराना आप सभी की जवाबदेही है। परीक्षा कार्य में प्रतिनियुक्त सभी दंडाधिकारी, पुलिस पदाधिकारी एवं परीक्षा कार्य में संलग्न केन्द्राधीक्षक एवं वीक्षक सतर्क एवं सक्रिय रहकर अपने कर्तव्यों का निर्वहन करेंगे। आज जिलाधिकारी कौशल कुमार केन्द्रीय चयन परिषद (सिपाही भर्ती) द्वारा बिहार पुलिस संगठन में सिपाही पद के लिए आयोजित परीक्षा के सफल आयोजन हेतु विधि-व्यवस्था संधारण के संदर्भ मे संयुक्त ब्रीफींग में निर्देश दे रहे थे।डीएम ने कहा कि सभी स्तर के दंडाधिकारी अपने-अपने निर्धारित स्थल पर मुस्तैद रहेंगे। कोई भी स्टेटिक दंडाधिकारी भोजनावकाश अवधि में परीक्षा केन्द्र परिसर से बाहर नहीं जाएंगे। जोनल एवं गश्तीदल दंडाधिकारी भ्रमनशील रहकर विधि-व्यवस्था संधारण एवं कदाचार मुक्त परीक्षा का आयोजन सुनिश्चित कराएंगे। सभी परीक्षार्थियों का दो स्तर पर फ्रीसकिंग की जाएगी। फ्रीसकिंग का कार्य अच्छे तरीके से करें। कोई भी आवांछित सामग्री किसी भी हाल में परीक्षा केन्द्र के अंदर ना जाए। वीक्षक भी द्वितीय स्तर पर फ्रीसकिंग सुनिष्चित करेंगे। प्रथम एवं द्वितीय फ्रीसकिंग के बाद भी यदि किसी परीक्षार्थी के पास कोई आवांछित सामग्री पाई जाती है तो संबंधित पदाधिकारियों/कर्मियों के विरूद्ध सख्त कार्रवाई की जाएगी।डीएम ने कहा कि परीक्षा आयोजन के क्रम में किसी भी प्रकार की लापरवाही एवं कदाचार में संल्पितता पाये जाने पर जवाबदेही तय करते हुए उनके विरूद्ध बिहार परीक्षा संचालन अधिनियम के तहत सख्त कानुनी कारवाई की जाएगी।उन्होंने कहा कि वर्तमान में जिस केन्द्र पर मुल्यांकन कार्य किये जा रहे हैं, परीक्षा की तिथि को मूल्यांकन का कार्य स्थगित रहेगा। समय पर प्रष्न पत्र उपलब्ध कराने का निर्देश दिया गया। उन्होंने कहा कि प्रश्न पत्र खुलने के समय गोपनीयता रखें एवं निर्धारित प्रक्रिया का पालन करें। कोई भी परीक्षार्थी परीक्षा देने के उपरांत प्रष्न पत्र लेकर नहीं जाएंगे। इसलिए परीक्षा समाप्ति के उपरांत सभी प्रश्न पत्र एकत्र करना केन्द्राधीक्षक की जवाबदेही होगी।पुलिस अधीक्षक लिपि सिंह ने कहा कि इस परीक्षा में भाग लेने वाले अभ्यर्थी सफल होकर पुलिस विभाग में ही नियुक्त होंगे। इसलिए सभी दंडाधिकारियों एवं पुलिस पदाधिकारियों का विशेष दायित्व है कि पूर्ण सतर्कता एवं मुस्तैदी के साथ कदाचार मुक्त एवं शांतिपूर्ण वातारण में परीक्षा सम्पन्न कराना सुनिष्चित करेंगे।

उल्लेखनीय है कि सहरसा जिलान्तर्गत 14.03.2021 (रविवार) को 11 केन्द्रों एवं 21.03.2021 को 15 केन्द्रों पर दो पालियों में सिपाही भर्ती पद पर नियुक्ति हेतु परीक्षा का आयोजन निर्धारित है। परीक्षा आयोजन के संदर्भ में केन्द्रीय चयन पर्षद के दिषा निर्देषों से सभी दंडाधिकारियों, पुलिस पदाधिकारियों एवं केन्द्राधीक्षक को विस्तृत रूप से जानकारी दी गई।

बैठक में अपर समाहर्ता विनय कुमार मंडल, सदर अनुमंडल पदाधिकारी शंभुनाथ झा सहित सभी दंडाधिकारी, पुलिस पदाधिकारी एवं केन्द्राधीक्षक उपस्थित थे।