फसल क्षतिपूर्ति में गड़बड़ी का आरोप व जांच के नाम पर खानापूर्ति करने को लेकर जिला कृषि पदाधिकारी का फूका पुतला

1329

कृषि समन्वयक विक्रम कुमार पर आरोप

सहरसा :स्थानीय वीर कुंवर सिंह चौक पर रालोसपा कार्यकर्त्ताओं ने जिले के सोनवर्षा राज प्रखंड के शाहपुर, सोहा, सोनवर्षा पंचायत के कृषि समन्वयक के द्वारा फसल क्षतिपूर्ति में गड़बड़ी करने व जांच के नाम पर जांच टीम के द्वारा खानापूर्ति करने का आरोप लगाते हुए जिला कृषि पदाधिकारी का पुतला फूका। पुतला दहन में कार्यकर्त्ता कृषि समन्वयक विक्रम कुमार को बर्खास्त करो के नारे लगा रहे थे। पुतला दहन का नेतृत्व आईटी सेल के जिलाध्यक्ष सूरज कुमार झा करते हुए कहा कि वर्ष 2020-21 में हुए फसल क्षतिपूर्ति के इनपुट अनुदान वितरण में कृषि समन्वयक विक्रम कुमार द्वारा ग्राम पंचायत शाहपुर, सोहा एवं सोनवर्षा के आवेदित किसानों के साथ फसल क्षतिपूर्ति अनुदान की राशि वितरण में घोर धांधली किया गया है। वर्ष 2020-21 में फसल क्षतिपूर्ति में बहुत ऐसे किसान हैं, जिनसे मोबाइल के माध्यम से अनुदान की राशि देने हेतु रिश्वत का मांग किया है जो की जांच का विषय है, साथ ही बहुत ऐसे किसान हैं, जिनके पास 2 हेक्टेयर से ज्यादा जोत जमीन है, फसल की क्षति भी हुई है, कृषि समन्वयक के कहने के अनुसार रिश्वत नहीं दिए हैं, वैसे किसानों को सरकार के द्वारा निर्धारित फसल क्षतिपूर्ति की राशि नहीं मिल सका है साथ ही जिस किसान के पास जोत जमीन एक एकड़ से भी कम ही है, परंतु कृषि समन्वयक विक्रम कुमार के द्वारा मांगे गए रिश्वत दिए हैं, उन किसानों को सरकार के नियमावली को नजर अंदाज करके मनमाने तरीके से अनुदान की राशि दी गई है, जो कि सरासर गैर कानूनी है और अन्यायपूर्ण है। इसको लेकर किसानों के द्वारा जिलाधिकारी और कृषि पदाधिकारी को आवेदन दिया गया उसके बाद शनिवार को जांच टीम पहुची। जांच टीम के साथ आरोपी कृषि समन्वयक विक्रम कुमार सोहा पंचायत, शाहपुर पंचायत के नवटोलिया मध्य विद्यालय के प्रांगण में किसानों से पुछताछ किया और लिखित बयान लिया।लेकिन आवेदनकार्त्ता के घर नही पहुचे। इससे साफ-साफ स्पष्ट होता है कि जांच टीम और कृषि पदाधिकारी इस मामले को गोल मटोल करने में लगे हुए हैं। उन्होंने कहा कि सवाल ये उठता है कि जिस पर आरोप है उसको साथ में लेकर जांच टीम जांच कर रही है जो सरासर गलत है। इसके निष्पक्ष जांच कभी नही हो पाएगी। अगर कृषि विभाग को छोड़कर दूसरे विभाग के पदाधिकारी को जांच टीम में शामिल कर जांच कराया जाता तो दूध का दूध पानी का पानी निकलकर सामने आ जाएगा। मौके पर जिला प्रधान महासचिव गौरव सिंह, जिला उपाध्यक्ष पवन झा, गोपाल तिवारी, चंद्रमोहन सिन्हा, नगर अध्यक्ष पप्पू सिन्हा, जिला अल्पसंख्यक प्रकोष्ठ के जिलाध्यक्ष मोहम्मद आरिफ हुसैन, अल्पसंख्यक प्रकोष्ठ के प्रदेश महासचिव मोहम्मद तोहिद, मिथिलेश गुप्ता, शिवम सरकार, सोनू, सुमन सोनू, गांधी बाबा, कौशल चौधरी सहित कई मौजूद थे।