मत्स्यगंधा झील की सौंदर्यीकरण का कार्य शीघ्र पूरा करें : जिलाधिकारी

1249
कार्य की प्रगति की स्थल पर जाकर समीक्षा की गई
सहरसा : मत्स्यगंधा झील की सौंदर्यीकरण का कार्य शीघ्र पूरा करें, इसके सौंदर्यीकरण के उपरांत काफी संख्या में स्थानीय एवं पर्यटक यहां आएंगे और यह पूर्व की भांति सबसे प्रमुख आर्कषण का केन्द्र और सहरसा की पहचान के रूप में विकसित होगा।आज जिलाधिकारी कौशल कुमार ने सहरसा नगर परिषद क्षेत्र में अवस्थित मत्स्यगंधा झील के किये जा रहे सौदर्यीकरण कार्य का निरीक्षण किया।
प्रभारी कार्यपालक अभियंता -सह- अधीक्षण अभियंता लघु सिंचाई एवं संवेदक से कार्य की प्रगति की स्थल पर जाकर समीक्षा की गई। उल्लेखनीय है कि जल-जीवन-हरियाली योजना अंतर्गत मत्स्यगंधा झील के जीर्णोद्धार के तहत अर्थवर्क का कार्य पूरा हो चुका है। मत्स्यगंधा झील के सौंदर्यीकरण योजना के अंतर्गत झील के तीन तरफ आठ फीट की चैड़ाई में पेभर ब्लाॅक लगाने का कार्य किया जा रहा है।
जिलाधिकारी द्वारा तेजी से कार्य को अंजाम देते हुए आगामी 15 मार्च 2021 तक सौंदर्यीकरण के अंतर्गत पेभर ब्लाॅक कार्य को पूरा करने का निर्देश दिया गया। झील के चारों तरफ बने मार्ग से ट्रेक्टर एवं वाहनों के परिचालन के क्रम में लगाये जा रहे पेभर ब्लाॅक की सुरक्षा हेतु 50 मीटर की दूरी के अंतराल पर प्रतिरोधक के रूप में आयरन गार्ड पोर्ट लगाये जाने का निर्देश दिया गया।
अधीक्षण अभियंता -सह- कार्यपालक अभियंता ने बताया कि मूल प्राक्कलन में आयरन गार्ड का प्रावधान नहीं था। अतएव प्राक्कलन को संषोधित कर सक्षम प्राधिकार को अनुमोदन हेतु भेजा गया है। झील के चारों ओर स्लोप/ढ़लान में जहां-जहां रेनकट अथवा स्लोप सुव्यवस्थित नहीं है उसे सुव्यवस्थित करने के निर्देश दिये गये। झील से लगे सड़क से वर्षा का जल झील में ना जाएं एवं इस कारण स्लोप को रेनकट से सुरक्षा हेतु झील के चारों किनारे पेभर ब्लाॅक के कटिंग से प्राप्त मिट्टी को किनारे-किनारे लगाते हुए थोड़ी उँचाई का डोवेल बनाये जाने का निर्देष दिया गया।
जल संसाधन विभाग द्वारा मत्स्यगंधा झील में जल की उपलब्धता के लिए बनाये गये कैनाल के कई जगह अवरूद्ध रहने को लेकर जिलाधिकारी ने जल संसाधन विभाग को उक्त केनाल की मरम्मति कराते हुए ब्लाॅकेज दूर करने का निर्देष दिया ताकि कैनाल के माध्यम से जलाषय में जल की समूचित उपलब्धता सुनिष्चित हो सके। साथ हीं झील के चारों ओर पी.सी.सी. के निर्माण हेतु निर्देष दिये गये। उल्लेखनीय है कि मत्स्यगंधा झील के चारों ओर पेड़-पौधे एवं हरित आवरण अधिष्ठापन वन प्रमंडल सहरसा के द्वारा किये जाने का प्रस्ताव है।    जिलाधिकारी के निरीक्षण के अवसर पर शषिभूषण चैधरी प्रभारी कार्यपालक अभियंता -सह- अधीक्षकण अभियंता, सहायक एवं कनीय अभियंता लघु सिंचाई विभाग एवं सौंदर्यीकरण कार्य कर रहे संवेदक मौजूद थे।