2 लोगों को संदिग्ध मानते हुए किया गया तड़ीपार

Kunal Kishor
kunal@koshixpress.com
260
शांतिपूर्वक विधानसभा चुनाव संपन्न कराने को लेकर अपराधियों के खिलाफ लगातार कार्रवाई की जा रही है। 
सहरसा :  बिहार विधानसभा आम निर्वाचन-2020 के अवसर पर निर्वाचन प्रक्रिया एवं मतदान को स्वच्छ निष्पक्ष भयमुक्त एवं शांतिपूर्ण रूप में संपन्न कराने के उदेष्य से बिहार अपराध नियंत्रण अधिनियम 1981 के अंतर्गत आपराधिक पृष्ठभूमि एवं विगत निर्वाचनों में मतदाताओं को भयभीत कर निर्वाचन को प्रभावित करने वाले दो असामाजिक तत्वों को जिला दंडाधिकारी सह जिलाधिकारी कौशल कुमार ने थाना बदर का आदेश दिया है।
अपने आदेश में जिलाधिकारी ने कहा है कि आगामी बिहार विधानसभा चुनाव में इनकी संभावित दबंगता एवं आपराधिक गतिविधियों से स्वच्छ निष्पक्ष भयमुक्त वातावरण में निर्वाचन प्रक्रिया को संपन्न कराने में व्यवधान उत्पन्न हो सकता है एवं विधि-व्यवस्था की समस्या हो सकती है।
 पुलिस अधीक्षक की अनुशंसा पर जिला दंडाधिकारी ने बी.सी.सी.ए. वाद में अपने न्यायालय में प्रतिवादियों एवं राज्य की ओर से अपर लोक अभियोजक से सुनवाई कर थाना बदर का आदेश पारित किया है। अपने आदेश में उन्होंने बिहार विधानसभा चुनाव-2020 की सम्पूर्ण प्रक्रिया पूरी होने तक प्रषासनिक एवं जनहित में थाना बदर किये गये संबंधित थाना में सदेह उपस्थित होकर प्रत्येक दिन 9ः00 बजे पूर्वाह्न से 11ः00 पूर्वाह्न तक एवं 5ः00 बजे अपराह्न से 8ः00 बजे अपराह्न तक अपनी उपस्थिति दर्ज कराएंगे।संबंधित थाना प्रभारी को आदेश दिया गया कि उनकेे थाना में तड़ीपार किये गये असामाजिक तत्व का प्रतिदिन पंजी में उपस्थिति दर्ज कराएंगे और पुलिस अधीक्षक को साप्ताहिक प्रतिवेदन देना सुनिष्चित करेंगे। थाना बदर की अवधि 10.11.2020 तक है।
 जिन आपराधिक पृष्ठभूमि के असामाजिक तत्वों को बी.सी.सी.ए. के अन्तर्गत थाना बदर किया गया है। उनका विवरण निम्न प्रकार हैः
1.चंदन साह,पिता-शंकर साह,कोशी चौक,वार्ड नं॰-14, थाना सहरसा को जलई ओ॰पी॰
2.रजनीश यादव उर्फ गोलू यादव,पिता-शंकर यादव,पंचवटी चौक,गंगजला,थाना सहरसा को बनगांव थाना बदर किया गया है।