टेंपो चालक को दो अज्ञात बैखोफ अपराधियों ने मारी गोली,गंभीर हालात में पीएमसीएच रेफर

Kunal Kishor
kunal@koshixpress.com
189

जमीनी विवाद में गोलीबारी की घटना को अंजाम देने का लगाया गया दो नामित लोगों पर आरोप

सहरसा@भार्गव भारद्वाज :सदर थाना क्षेत्र के नियामत टोला निवासी एवं वर्तमान में डुमरैल स्थित ससुराल में रहने वाले विनोद रजक के 33 वर्षीय पुत्र एवं टेंपो चालक कृष्णा रजक को बुधवार की दोपहर बैजनाथपुर ओपी क्षेत्र के रामपुर बरदाहा नहर के निकट उनके ही टेम्पू में पीछे बैठे दो अज्ञात लोगों द्वारा गोली मार दी गई। गोलीबारी की घटना में घायल कृष्णा को आनन-फानन में सदर अस्पताल लाया गया। जहां उनकी गंभीर हालत को देखते हुए रेफर कर दिया गया। जिन्हें बाद में गांधी पथ स्थित निजी नर्सिंग होम में भर्ती कर इलाज कराया जा रहा है। जहां उनकी हालत अभी स्थिर बताई जा रही है। वही घटना की सूचना पर पुलिस नामित लोगों की गिरफ्तारी के लिए छापामारी कर रही है।
पीड़ित के पिता विनोद रजक ने बताया कि उनका जमीनी विवाद डुमरैल टोला , वार्ड नंबर 37 निवासी फिदो शाह के पुत्र संजय शाह एवं मनन शाह के पुत्र पंकज शाह से कई वर्षो से चला आ रहा है। बीते एक सितंबर को भी हथियार के बल पर उनके पुत्र के साथ लूटपाट की घटना घटी थी। जिनमें उनके मोबाइल सहित कीमती सामान को अज्ञात अपराधियों द्वारा लूट ली गई थी। जिसके बाबत सदर थाना में आवेदन दिया गया था।
बुधवार की दोपहर लगभग 12 बजे स्थानीय बस स्टैंड में दो अज्ञात व्यक्ति उनके टेंपो को किराया पर रिजर्व किया। उनसे बैजनाथपुर ओपी क्षेत्र के बनचोलहा गांव के लिए टेंपो किराए पर लिया। जिसका भाड़ा 800 रुपए तय हुई। जिसमें 300 रुपए एडवांस दिए गए। जिसके बाद दोनों अज्ञात व्यक्ति टेम्पू में बैठकर उन्हें पहले बनचोलहा लेकर पहुंचा। फिर उन्हें कुछ कार्य की बात बता बैजनाथपुर ओपी क्षेत्र के रामपुर बरदाहा गांव की ओर लेकर चले। जहां रामपुर नहर के निकट पीछे बैठे दोनों अज्ञात में से एक अज्ञात ने उनके दाएं कंधे पर गोली चला दी। गोली उनके कंधे को छेड़ती हुई सीने से निकल गई। जिसके बाद वे बेहोश होकर टेम्पू में गिर पड़े। उन्हें मृत जान अपराधी भागने में सफल रहे।
सदर थाना अध्यक्ष आर के सिंह ने बताया कि पीड़ित के बयान पर मामला दर्ज कर ली गई है। जमीनी विवाद के कारण को बता कर गोलीबारी करने का आरोप दो लोगों पर लगाया गया है। घटना बैजनाथपुर ओपी क्षेत्र का है। बयान दर्ज कर ओपी क्षेत्र भेज दी जाएगी। जहां से आगे की कार्रवाई की जाएगी।