शिक्षकों को मौत के मुँह में ढकेलना बंद करे सरकार

दिनेश सिंह
dineshsinghsahara6@gmail.com
578

◆बिहार में अब अगर एक भी शिक्षक की मौत हुई तो संघ सरकार पर करेगी हत्या का मुकदमा

कोशी एक्सप्रेस: मधुबनी से ब्रजेश चन्द्र की रिपोर्ट

               मधुबनी:- प्राप्त सूचना के अनुसार कोरोना की वजह से अब तक शिक्षा विभाग के दो डी पी ओ (समस्तीपुर और लखीसराय), चुनाव का मास्टर ट्रेनिग लेने गए एक शिक्षक सहित सीवान के एक और पटना के दो शिक्षकों सहित कुल 6 शिक्षक पदाधिकारियों की अकाल मौत हो चुकी है। अभी भी इन घटनाओं से चेतने की बजाए सरकार अपने हठधर्मिता में शिक्षकों के लिए नित्य नए फरमान जारी कर मौत के मुंह में धकेलने पर आमादा है।
बदहाल स्वास्थ्य व्यवस्था वाले प्रदेश में विकराल हो चुके कोरोना महामारी के बीच बिना काम के भी सभी शिक्षकों को विद्यालय जाने, कभी नामांकन पखवारा मनाना तो कभी लौक डाउन में ही गांव भर के लोगों को इकट्ठा कर चावल वितरण करने जैसे सनकी निर्देश जारी करती है।
टीईटी एसटीइटी उत्तीर्ण नियोजित शिक्षक संघ गोप गुट सभी मृतक पदाधिकारियों एवं शिक्षकों के प्रति गहरी शोक व्यक्त करती है तथा सरकार से उनके आश्रितों को 1-1 करोड़ रुपए के मुआवजा एवं अनुकंपा पर नौकरी देने की मांग करती है। साथ ही चावल वितरण, नामांकन पखवारा, चुनाव प्रशिक्षण और बेवजह का शिक्षकों को विद्यालय आना जैसे फरमान पर अभिलंब रोक लगाते हुए जब तक कोरोना पर कंट्रोल ना हो या कम से कम सितंबर तक राज्य के सभी विद्यालय को टोटली बंद रखने की मांग करती है,जिस से कि सोशल डिस्टेंसिंग का पालन हो सके और इस महामारी को विकराल रूप लेने से रोका जा सके ।
अन्यथा की स्थिति में अब अगर एक भी शिक्षक की मौत हुई तो संघ इसके लिए सरकार को जिम्मेदार मानते हुए हत्या का मुकदमा दर्ज कराने के लिए बाध्य होगी।

                  संघ के जिलाध्यक्ष वसी अखतर ने अपने मांग पत्र के द्वारा जिला शिक्षा पदाधिकारी मधुबनी से मांग की है कि नव प्रशिक्षित शिक्षकों के अंतर वेतन के भुगतान के लिये जिले के सभी प्रखंड शिक्षा पदाधिकारी एवं जिला कार्यक्रम पदाधिकारी (स्थापना) को निदेशित करने की कृपा करें जिस से अंतर वेतन का भुगतान हो सके और शिक्षक सोशित होने से बचे, साथ ही ईद उल अजहा ( बकरीद) जैसे महा पर्व को देखते हुऐ माह जून एवं फरवरी का भुगतान किया जाना सुनिश्चित किया जाय । ये सभी मांगें शिक्षकों और संघ की ओर से टीईटी-एसटीईटी उत्तीर्ण नियोजित शिक्षक संघ मधुबनी के जिलाध्यक्ष वसी अख्तर ने की है।