ट्यूशन पढ़ा कर जरूरतमंदों में बांटती हैं कोरोना वारियर्स रानी मास्क

1192

कोरोना महामारी के आतंक से भले ही महानगर से लेकर ग्रामीण इलाके तक रहने वाले अधिकांश लोग अभी भी भय और दहशत भरे माहौल के बीच समय ब्यतीत कर रहे हों।लेकिन ग्रामीण इलाके सहित महनगरों में भी रहने वाले हजारों युवक और युवतियां इस कोरोना महामारी को मात देने के लिए निर्भीक होकर जन जागरूकता अभियान चलाने में अग्रसर बने हुए हैं।इस कड़ी में कोशी प्रमंडल अंतर्गत सहरसा जिले के युवक व युवतिया भी पीछे नहीं रही। समाज सेवा में रूचि रखने वाली सहरसा की बेटी रानी बेखौफ होकर जन जागरूकता अभियान चलाने में जुटी हुयी है।”

सहरसा : कोरोना महामारी के इस दौर में कई लोग अपने स्तर से सामाजिक कार्यों में जुटे है।

सहरसा के रमेश झा महिला कॉलेज से हिंदी स्नातक पास एक छात्रा इन दिनों खास चर्चा में बनी हुई है।यह छात्रा सड़कों पर उतर कर बगैर मास्क घूम रहे अमीर,गरीब,निःसहाय,जरूरतमंदों के बीच मास्क,साबुन का वितरण कर रही हैं.

मास्क बांटने के साथ लॉकडाउन पालन करने का करती है अनुरोधगंगजला बंफर चौक निवासी श्याम झा की पुत्री कुमारी रानी ने कहा कि वह शहर के एक निजी स्कूल में पढ़ाती थी । लॉक डाउन होने के बाद 4 घरेलू ट्यूशन दे रही हूँ । ट्यूशन की जो राशि मिलती है उससे मास्क व साबुन खरीद कर चौक-चौराहों,मुहल्ले में जरूरतमंद के बीच वितरण करती हूँ। रानी इस दौरान लोगों को सोशल डिस्टेंसिंग का पालन करने और लोगों को घरो में रहकर कोरोना लॉक डाउन का पालन करने का भी अनुरोध करती हैं.बता दें कि स्नातक पास छात्रा रानी यातायात थानाध्यक्ष नागेंद्र राम और उनकी टीम की मदद से 27,28,29 मई और पर्यावरण दिवस (5जून) को बारिश के बीच थाना चौक मास्क,साबुन का वितरण की ।रानी लॉक डाउन होने के बाद 4 घरो में ट्यूशन दे रही है । ट्यूशन से जो भी राशि मिलता है उसे बचा कर मास्क,साबुन खरीद कर लोगों के बीच वितरण करती है।
रानी कहती है कि समाज सेवा में रुचि है ,लोगों को मदद करने में दिल को सकून मिलता है।