Lockdown2.0 के बहानेवीर.. इनसे जूझ रहे ‘कर्मवीर’

1756

आधे दर्जन भर वाहनों को जब्त किया

सहरसा : पिता जी बीमार है… बच्चे को प्लस पोलियो की दवा दिलाने जा रहे है.. सब्जी लेने जा रहे है…गैस का पर्चा कटाने जा रहे… बैंक से रुपए निकालने जा रहे है…डॉक्टर साहब से बात हुई है…पहले से इलाज चल रहा है…उन्होंने पुरानी पर्ची पर लिखी दवा ही रिपीट करने के लिए बोला है, इसलिए दवा लेने मेडिकल स्टोर तक जा रहा हूं। ये ऐसे बहाने हैं जो इन दिनों शहर में विभिन्न स्थानों पर बने पुलिस नाकों पर सुने जा रहे हैं। इस तरह के बहानेबाज रोज पुलिस जांच के दौरान कुछ ज्यादा ही नजर आए।

दरअसल मॉडिफाइड लॉकडाउन शुरू होने का कई लोगों ने गलत मतलब निकाल लिया। कई लोग तो यह मान कर घरों से निकल गए कि लॉकडाउन खत्म हो गया। वहीं कई अपनी आदत के अनुसार बहाने बना कर घरों से निकल लिए। इससे 21 दिनों के लॉक डाउन के बाद  जारी लॉक डाउन 2.0 शुरू होने के बाद सड़कों पर ज्यादा लोग नजर आ रहे है। लॉकडाउन की पालना में हालांकि शहर के विभिन्न स्थानों पर पुलिस तैनात है लेकिन लोग ऐसे बहाने बना रहे हैं कि पुलिस को भी नरमी बरतनी पड़ रही है।

मास्क भूल आया…

थाना चौक,शंकर चौक,कचहरी चौक,चांदनी चौक एवं अन्य जगहों पर शनिवार देर सवेर से दोपहर तक मोटर साइकिल सवार,साइकिल सवार युवक को रोक कर घर से निकलने का कारण पूछा गया तो कोई दवा तो कोई दूध लेने जाना बताया। उसे जब बताया गया कि वह जिस तरफ जा रहा है उस तरफ तो दूध नहीं है तो उसका कहना था वह मास्क घर पर भूल आया। इसलिए मास्क लेने वापस घर की तरफ जा रहा हूँ । जबकि कईयो के पास रुमाल तो कई के कंधो पर गमछा पड़ा हुआ था।

गैस खत्म हो गई…
इसी तरह डीबी रोड से  गंगजला ढाला की तरफ जा रहे एक बिना हेलमेट मोटरसाइकिल सवार युवक से थाना चौक पर सदर थानाध्यक्ष आर के सिंह ने पूछा तो उसने बताया कि वह चांदनी चौक के समीप में रहता है और गैस बुकिंग कराने गया था । जब उससे पूछा गया कि शहर के दोनों गैस एजेंसी थाना चौक से पहले ही है, इस रास्ता तरफ नहीं है, तो उसका कहना था कि वह घर में ही कार्ड भूल गया था  इसलिए लेने इस तरफ आ गया।

महिषी से दवा लेने आए…

डीबी रोड से मोटर साइकिल पर आ रहे दो युवकों को थाना चौक पर पुलिस ने रोका तो उन्होंने बताया कि वे महिषी से यहां दवा लेने के लिए आए हैं। इस पर पुलिस का कहना था कि महिषी से थाना चौक आने के दौरान दर्जनों मेडिकल,दवा एजेंसी है, वहां दवा लेने क्यों नहीं गए तो उनका कहना था कि इलाज नया बाजार   के डॉक्टर का चल रहा है। इसलिए दवाइयां भी नया बाजार से लेकर जाते हैं। इस पर पुलिस ने  बाइक जब्त कर लिया और जुर्माने की रसीद थमा दिया ।

गाड़ी चालक को हिदायत देती हुई प्रशिक्षु महिला एसआई

ऐसे-ऐसे बहाने
इसी तरह कई चौक-चौराहों पर तैनात प्रशिक्षु एसआई, एएसआई, ट्रैफिक जवान,पुलिस कर्मी,अधिकारी जिससे भी घरों से बाहर निकलने का कारण पूछते तो कोई दूध लेने, सब्जियां लेने, किसी ने दवा लेने, किसी ने डॉक्टर को दिखाने तो किसी ने बैंक में काम से जाने की बात कही।

कई दोपहिया वाहन जब्त

सहरसा के थाना चौक पर आवाजाही करने वालों कई कार सवार को उल्टे पांव घर लौटा दिया गया। इसी दौरान कुछ लोगों को पुलिस ने सख्त चेतावनी भी दी।

सदर थाना अध्यक्ष आर के सिंह एवं यातायात प्रभारी नागेन्द्र राम स्वयं ही चेकिग में लगे हुए थे। कुछ लोग तो पुलिस देखकर पहले ही वापस हो लिये।

वहीं अधिकतर लोग सब्जी लेने,दवाई लेने या मरीज को दिखाने जा रहे की बात कहते दिखे। कई कार में तीन से चार लोग सवारी कर रहे थे। वहीं बाइक पर बिना हेलमेट लगाए, शारीरिक दूरी का पालन नहीं करते हुए दो लोग सवार थे। ऐसे आधे दर्जन भर वाहनों को जब्त किया गया ।