बजट में युवा वर्ग व बेरोजगारों की उपेक्षा : कामेश यादव

कोशी एक्सप्रेस न्यूज़ डेस्क, मधुबनी

                        मधुबनी: मधवापुर प्रखंड के कांग्रेस कार्यकर्त्ता कामेश यादव ने बिहार बजट 2020 पर प्रतिक्रिया देते हुए इसे युवा वर्ग व बेरोजगारों के लिए बेकार व दिशाहीन बताया है। गुरुवार को साहरघाट में पत्रकारों से हुई बातचीत में यादव ने कहा कि मुख्यमंत्री कुशल युवा कार्यक्रम जैसे योजनाओं की विफलता के बाद सूबे में बेरोजगारों की बड़ी फ़ौज खड़ी हो गयी है। सरकार सिर्फ कागजी आंकड़ों में राज्य के युवाओं को कुशल बनाने की बात कह रही है। जबकि धरातल पर इन्हें कोई अवसर उपलब्ध नहीं कराया जा रहा है। हर साल कुशल युवा कार्यक्रम से बड़ी संख्या में युवा उतीर्ण हो रहे हैं। जिन्हें सरकार द्वारा रोजगार के अवसर उपलब्ध नहीं कराए जा रहे हैं। इस बजट ने भी उनके उम्मीदों पर पानी फेर दिया है। इससे राज्य के युवा वर्ग में सरकार के प्रति असंतोष व निराशा है।
उन्होंने कहा कि दूसरे राज्यों में सरकारें वहां के युवाओं का अन्य राज्यों में पलायन रोकने के लिए नए नए आबंटन कर रही है। वहीं बिहार में यहाँ के युवाओं व बेरोजगारों की लगातार उपेक्षा होरही है। बजट में बेरोजगारों के लिए किसी प्रकार का प्रावधान नहीं होने से सरकार की उदासीनता जाहिर होती है। उन्होंने कहा कि आनेवाले समय में इसका जवाब यहाँ के बेरोजगार युवा अपने वोट के माध्यम से देंगे।
मौके पर पतार के वार्ड सदस्य अरुण यादव, सरोज यादव, श्याम यादव, उमेश कुमार, पप्पू कुमार सहित अन्य कार्यकर्ता मौजूद थे।