सीएस से पूछा स्पस्टीकरण,सात दिनों के अंदर समर्पित करने का निर्देश

1744

सीएस से पूछा स्पस्टीकरण
सहरसा :सरकार के अवर सचिव विवेकानंद ठाकुर ने सदर प्रखंड बरियाही के चिकित्सा पदाधिकारी डॉ अशोक कुमार गुप्ता पर गठित किये गए प्रपत्र क मामले में सीएस सहरसा से स्पस्टीकरण पूछा है और सात दिनों के अंदर स्पस्टीकरण समर्पित करने का निर्देश दिया है।जारी पत्र में उन्होंने कहा कि मामले की समीक्षा के दौरान आरोप प्रतिवेदित किया गया है। उन्होंने कहा कि विभाग के स्पस्ट निर्देश के बाबजूद डॉ अशोक कुमार गुप्ता, भरौली एपीएचसी के डॉ रमेश सिंह व सोनबरसा पीएचसी के डॉ उद्यानन्द पासवान की प्रतिनियुक्ति अपने मूल स्थान से अन्यत्र किया गया है।इन प्रतिनियुक्ति की संपुष्टि विभाग से प्राप्त नही किया गया है।इस तरह सरकार के आदेश की अवहेलना की गई। स्पस्ट निर्देश के बाबजूद डॉ रमेश सिंह व डॉ उद्यानन्द पासवान को निकासी एवं व्ययन पदाधिकारी घोषित किया गया, जबकि डॉ गुप्ता सबसे वरीय पदाधिकारी है ।डॉ गुप्ता द्वारा वरीयता को दर्शाते हुए पुनः विचार के लिये आग्रह किया गया लेकिन आपके द्वारा अनदेखी की गई। क्षुब्ध होकर उन्होंने न्यायालय का शरण लिया, जिसके कारण विभाग को विषम परिस्थितियों का सामना करना पड़ा। क्षेत्रीय अपर स्वास्थ्य निदेशक के आदेश का अवहेलना किया गया।अवर सचिव ने कहा कि आपके विरुद्ध विद्वेषपूर्ण एवं तथ्यहीन आरोप गठित करने, क्षेत्रीय अपर निदेशक के आदेश की अवहेलना एवं सरकारी निर्देष के प्रति कार्य नही करने का आरोप प्रतिवेदित होता है। उक्त आरोप में अपना स्पस्टीकरण समर्पित करने अन्यथा नियामुनुकूल आवश्यक कार्रवाई के लिए विभाग बाध्य होगा।