पेपरमेशी के कलाकारों के प्रशिक्षण कार्यक्रम का डीएम ने किया शुभारंभ

कोशी एक्सप्रेस: मधुबनी (बिहार) से बी.चन्द्र की रिपोर्ट

                 मधुबनी: श्री शीर्षत कपिल अशोक, जिला पदाधिकारी, मधुबनी के द्वारा बुधवार को अंबेदकर भवन, मधुबनी में हैंडिक्राॅफ्ट टेक्निकल ट्रेनिंग प्रोग्राम के तहत पेपरमेशी के कलाकारों को दिए जानेवाले तकनीकी प्रशिक्षण कार्यक्रम का दीप प्रज्वलित कर शुभारंभ किया गया।

                            कार्यक्रम को संबोधित करते हुए जिला पदाधिकारी, मधुबनी ने कहा कि पेपरमेशी कला काफी सुंदर कला है। इसमें प्रशिक्षण के माध्यम से दक्षता हासिल कर जीविकोपार्जन का माध्यम बनाया जा सकता है। साथ ही देश-विदेश में शोहरत भी प्राप्त किया जा सकता है। उन्होंने सभी कलाकारों से कला के विभिन्न विधाओं में मधुबनी को और अधिक उंचाई पर ले जाने का आग्रह किया गया।                         पेपरमेशी कलाकारों को चार महीने के लिए भिट्ठी सलेमपुर में प्रशिक्षण कार्यक्रम का आयोजन किया जायेगा। एक बैच में 20 कलाकारों को तकनीकी प्रशिक्षण दिया जायेगा। प्रशिक्षण प्राप्त करनेवाले कलाकारों को प्रति कलाकार प्रतिदिन 300रू0 की दर से पारिश्रमिक का भुगतान किया जायेगा। साथ ही प्रशिक्षकों को भी 15,000रू0 प्रतिमाह की दर से मानदेय दिया जायेगा। कलाकारों को प्रशिक्षण राज्य पुरस्कार से पुरस्कृत श्रीमती कामिनी कौशल, श्रीमती ललिता देवी के द्वारा प्रशिक्षण दिया जायेगा। इस प्रशिक्षण से पेपरमेशी के कलाकारों को राष्ट्रीय स्तर पर काफी ख्याति मिलेगी।
इसी प्रकार विभिन्न विधाओं यथा-बांस, मिथिला पेंटिंग,सुजनी, हैंड इम्ब्राॅडरी इत्यादि का भी प्रशिक्षण शीघ्र ही प्रारंभ किया जायेगा। जिससे की कलाकारों को आत्मनिर्भर बनने में मदद मिल सकें। इस अवसर पर जिला पदाधिकारी, मधुबनी के द्वारा पेपरमेशी के प्रशिक्षण प्राप्त करनेवाले कलाकारों के बीच टूल किट का वितरण किया गया।                     इस अवसर पर श्री अजय कुमार सिंह, उप-विकास आयुक्त, मधुबनी, श्रीमती कामिनी कौशल, श्रीमती ललिता देवी, श्री बालकृष्ण चौधरी, लेखा पदाधिकारी, डी0आर0डी0ए0, मधुबनी समेत काफी संख्या में पेपरमेशी के कलाकारों ने भाग लिया।