सूर्यगढ़ा प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्र पर हुआ पीयर असेसमेंट

823

कायाकल्प योजना के तहत किया जा रहा है मूल्यांकन का काम

लखीसराय: कायाकल्प योजना के तहत जिला के तीन प्रखंडों के प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्रों में पीयर असेसमेंट का काम शुरू किया गया है. इसको लेकर गुरुवार को सूर्यगढ़ा प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्र में मौजूद स्वास्थ्य सुविधाओं के मूल्यांकन का काम किया गया. मूल्यांकन करने वाली दो सदस्यी टीम में हलसी प्रखंड के प्रखंड स्वास्थ्य प्रबंधक व केयर इंडिया के ब्लॉक मैनेजर शामिल थे. मूल्यांकन किये जाने वाले प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्रों में रामगढ़ चौक प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्र सहित पिपरिया प्राथमिक स्वास्थ्य केंद भी शामिल हैं. रामगढ़ प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्र के मूुल्यांकन का कार्य बुधवार को किया जा चुका है. शनिवार को पिपरिया प्राथमिक स्वास्थ केंद्र का पीयर असेसमेंट किया जायेगा. पीयर असेसमेंट प्रखंड व जिला स्तर के पदाधिकारियों द्वारा किया जाना है. प्रखंड के बाद अब जिला स्तर के पदाधिकारी इन तीन प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्रों में मौजूद आवश्यक सुविधाओं के मूल्यांकन करने का काम करेंगे. इसे देखते हुए सभी प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्रों में मौजूद चिकित्सीय व स्वास्थ्य सुविधाओं को चुस्तदुरुस्त किया गया है.रामगढ़ चौक प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्र के पीयर असेसमेंट की टीम में सूर्यगढ़ा के प्रखंड स्वास्थ्य प्रबंधक व केयर इंडिया के ब्लॉक मैनेजर शामिल रहे. वहीं लखीसराय सदर अस्पताल के अस्पताल प्रबंधक व सदर अस्पताल में केयर इंडिया के ब्लॉक मैनेजर की टीम पिपरिया प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्र के पीयर असेसमेंट के लिए तैयार की गयी है. सूर्यगढा प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्र के पीयर असेसमेंट में हलसी के प्रखंड स्वास्थ्य प्रबंधक व हलसी के ही केयर इंडिया ब्लॉक मैनेजर ने मूल्यांकन का काम किया.रामगढ़ चौक, पिपरिया व सूर्यगढ़ा प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्रों को 70 फीसदी से अधिक अंक प्राप्त हुआ है. रामगढ़ चौक प्राथमिक स्वास्थ् केंद्र को 72, पिपरिया प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्र को 73 व सूर्यगढ़ा प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्र को 71 प्रतिशत अंक प्राप्त हुआ है.केयर इंडिया के डीटीएल नावेदउर रहमान ने बताया इन प्राथमिक स्वास्थ्य केद्रों में मौजूद विधिव्यवस्था का मूल्यांकन किया जायेगा. यहां मौजूद स्वास्थ् सेवाओं को बारीकी से मूल्यांकन कर उन्हें और बेहतर बनाने की दिशा में काम किया जाना है.

मूल्यांकन से स्वास्थ्य संस्थानों को मिलेगी उपलब्धि
सिविल सर्जन डॉ सुरेश शरण ने बताया इस मूल्यांकन से काफी उपलब्धि प्राप्त की जा सकेगी. केंद्र की कायाकल्प योजना के तहत स्वास्थ्य केंद्रों और अस्पतालों में सुविधाओं के आधार पर लगभग 250 बिदुओं पर जांच की जाती है। इनमें सात बिदु प्रमुख होते हैं, जिसमें मरीजों को दी जाने वाली सुविधाएं, सफाई, मैनेजमेंट, सामाजिक कार्य, मरीजों का भोजन आदि शामिल हैं। इन बिदुओं के आधार पर स्वास्थ्य केंद्र को 500 तक अंक दिए जाते हैं। इस योजना के लिए जारी की गई सूची में अच्छे अस्पताल की विशेषताएं बताई गई हैं। जिसमें अस्पताल की स्वच्छता, अस्पताल से निकले वाले कचरे का सही इंतजाम, अस्पताल के फूलों की क्यारी की स्थित व बिजली का बेहतर प्रयोग आदि प्रमुख हैं.

क्या है कायाकल्प योजना
‘कायाकल्प’ नामक अभियान की शुरूआत 15 मई, 2015 को केंद्रीय स्वास्थ्य और परिवार कल्याण मंत्रालय ने किया. पहल का उद्देश्य सभी जनस्वास्थ्य सुविधाओं को विशिष्ट मानकों की दिशा में प्रोत्साहित करना है. साथ ही स्वास्थ्य सुविधाओं को बेहतर बनाया जाना है. इस पहल के अधीन पांच पुरस्कार दिए जाएंगे. प्रत्येक राज्य के दो सर्वश्रेष्ठ जिला अस्पताल (छोटे राज्यों में एक), प्रत्येक जिले में दो सर्वश्रेष्ठ सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र/उपजिला अस्पताल (छोटे राज्यों में एक) और एक प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्र को पुरस्कार मिलता है.