हमारे बीच अब नहीं रहे डीपीओ साक्षरता अनिल कुमार श्रीवास्तव, शिक्षा विभाग में शोक की लहर

कोशी एक्सप्रेस: मधुबनी से बी.चन्द्र की रिपोर्ट

शिक्षा विभाग और शिव भक्तों में शोक की लहर

          मधुबनी: डीपीओ साक्षरता अनिल कुमार श्रीवास्तव अब हमारे बीच नहीं रहे। मंगलवार की रात सदर अस्पताल मधुबनी में उन्होंने अंतिम साँस ली। वे बीमार चल रहे थे। उनके निधन से शिक्षा विभाग में शोक की लहर व्याप्त है। उनके निधन की खबर से जिले भर में उनके विद्यार्थी रह चुके शिक्षकों को गहरा दुःख हुआ है। वे शिव गुरु को मानने वाले थे। मधुबनी जिले में उनके अनेकों शिव गुरु भाई-बहने थीं। उनके निधन से अनेकों शिव भक्तों को गहरा दुःख हुआ है।
डीपीओ अनिल कुमार श्रीवास्तव मृदुभाषी व समाजसेवी थे। वे विभागीय कार्य कुशलता के लिए भी जाने जाते थे।
मधुबनी से उनकी पुरानी पहचान रही है। शुरुआती दौर में वे जिला शिक्षा शिक्षक प्रशिक्षण महाविद्यालय (डायट) नरार, मधुबनी में व्याख्याता के रूप में भी कार्य किये। बाद में वे डीपीओ बने । सुपौल से स्थानांतरित होकर वे मधुबनी आये। वर्तमान में वे डीपीओ साक्षरता एवं माध्यमिक शिक्षा के रूप में कार्यरत थे। .                             उनके असामयिक निधन से शिक्षा जगत में अपूर्णीय क्षति हुई है। उनके निधन पर डीईओ नसीम अहमद, डीपीओ लेखा (स्थापना), डीपीओ मध्यान भोजन सहित अनेक पदाधिकारियों, जिले के सभी शिक्षक संघों के नेताओं, उनसे विभागीय व व्यक्तिगत रूप से जुड़े शिक्षकों सहित अनेक समाजिक व प्रबुद्धजनों ने गहरा दुःख व्यक्क्त किया है और साथ ही उन्हें विनम्र श्रद्धांजलि दी है।