पीएचसी प्रभारी के खिलाफ एक दिवसीय धरना प्रदर्शन, निलंबित करने की उठी माँग

खुटौना (मधुबनी) से रमेश कुमार सिंह की रिपोर्ट

            मधुबनी: खुटौना प्रखंड मुख्यालय परिसर में पीएचसी प्रभारी डॉ बिजय मोहन केसरी के खिलाफ एक दिवसीय शांतिपूर्ण धरना प्रदर्शन का आयोजन किया गया । प्रखंड से सटे लदनियाँ प्रखंड के डुब्ब्घाट पथराही के समाजसेवी व जननायक कर्पूरी ठाकुर विचार मंच के पंचायत संयोजक कुसुम लाल मंडल के नेतृत्व में आयोजित  कार्यक्रम में बड़ी संख्या में लोग शामिल हुए । इस अवसर पर हुई सभा में वक्ताओं ने प्रभारी  डॉ बिजय मोहन केशरी के मनमानी से लोगों को हो रही परेशानी की चर्चा की । उन पर गत वर्ष जून में दो परिवारों के बीच में मामूली सी मारपीट में एक पक्ष को नाजायज रकम लेकर जख्म प्रमाण पत्र देने और पुलिस को दिग्भ्रमित करके दूसरे परिवार को शारीरिक, आर्थिक एवं मानसिक रूप से प्रताड़ित करने का गंभीर आरोप लगाया गया । उनके द्वारा लंबे समय से इसी तरह निर्दोष लोगों को भी जेल भेजवाने का आरोप लगाया गया । उन्हें तुरत निलंबित किये जाने, उनके खिलाफ सुसंगत धाराओं में  प्राथमिकी दर्ज किये जाने तथा उनकी संपत्ति की उच्चाधिकारियों से जांच कर उचित कार्रवाई किये जाने की मांग की गयी ।                        धरना के बाद नाजायज कमाई की बदौलत दरभंगा में बन रहे उनके मकान को जब्त किये जाने और उनके द्वारा निर्गत जख्म प्रमाण पत्रों की मेडिकल बोर्ड से जाँच कराये जाने सहित ग्यारह सूत्री मांगों का ज्ञापन बीडीओ आलोक कुमार को सौंपा गया । बीडीओ ने मांगों के ज्ञापन को उच्च अधिकारी तक पहुँचाने का वादा किया । वक्ताओं में  भारती, देवन्त पूर्वे, जिला परिषद सदस्य राम अशीष पासवान और प्रिंस कुमार सहित बड़ी संख्या में लोग शामिल थे।