शहर से गांव तक दिखा मानव श्रृंखला की कतार

1600
बच्चे, बूढ़े और नव दंपति ने भी मानव श्रृंखला में लिया भाग।
आसमान में हेलीकॉप्टर को घूमते देख लोगों ने हिलाया हाथ।
मानव श्रृंखला समाप्ति पर प्रशासन ने ली राहत की सांस।
सहरसा@भार्गव भारद्वाज :शराबबंदी, दहेज विरोधी एवं बाल विवाह विरोधी अभियान के बाद रविवार को जल जीवन हरयाली को लेकर राज्य स्तरीय मानव श्रृंखला शहर से गांव तक मजबूत दिखा।
 शराबबंदी व दहेजबन्दी को लेकर दो वर्ष पूर्व बनाए गए मानव श्रृंखला के मुकाबले यह मानव श्रृंखला काफी मजबूत दिखा।  जिसके कई कारण गिनाते हुए अधिकारी मानव श्रृंखला को सफल बनाने में एड़ी- चोटी लगाने व सबके सहयोग की बात कही।
 शहर के वीर कुंवर सिंह चौक पर भाजपा विधायक नीरज कुमार बबलू,पूर्व विधायक किशोर कुमार मुन्ना,संजीव कुमार झा,सुरेंद्र यादव,कार्तिक सिंह,सिद्धार्थ सिंह सिद्धू सहित अन्य के नेतृत्व में कतारें लगी और श्रृंखला में शामिल हुए।
 कई विद्यालय के छात्र व छात्राओं की झांकी आकर्षण का केंद्र बना रहा। जहां छात्र व छात्राओं ने दहेज व बाल विरोधी तथा जल जीवन हरियाली से संबंधित झांकी निकाली। कई प्रशासनिक पदाधिकारी व शिक्षाकर्मी छात्राओं के साथ मानव श्रृंखला में खड़े दिखे।
 वहीं स्टेडियम में क्षेत्रिय सांसद दिनेश चंद्र यादव ,जिला प्रभारी सचिव नर्मदेशवर लाल , आयुक्त के सेंथिल कुमार,जिलाधिकारी शैलजा शर्मा,डीआईजी सुरेश प्रसाद चौधरी,पुलिस अधीक्षक राकेश कुमार,डीडीसी राजेश कुमार सिंह,जदयू नेता अक्षय झा समेत सभी अधिकारी,पदाधिकारी,कर्मचारियों के साथ स्थानीय लोगों ने बढ़-चढ़कर हिस्सा लिया।।
विद्यालय की छात्राओं का मनोबल बढ़ाते हुए शिक्षिकाओं को शाबासी दी। मानव श्रृंखला में बच्चे से लेकर बूढ़े तक कतार में दिखे। शहर से गांव तक मानव सुरक्षा को लेकर चहुओर पुलिस अधिकारी गश्त लगाते रहे। प्रशासन द्वारा पेय जल व चिकित्सा की भी व्यवस्था की गई थी।
मानव श्रृंखला के दौरान आकाश में घूमते हुए हेलीकॉप्टर को देख खड़े लोग हाथ हिलाते रहें।