बीएनएमयू : कुलपति सहित उच्च पदाधिकारियों ने बनाई मानव श्रृंखला

183

बिहार सरकार सामाजिक सुधारों के लिए प्रतिबद्ध
मधेपुरा: बीएनएमयू ने रविवार को पूर्वाह्न साढ़े ग्यारह बजे से बारह बजे तक आयोजित मानव श्रृंखला में अपनी भागीदारी निभाई। इसके तहत राष्ट्रीय सेवा योजना के बैनर तले विश्वविद्यालय मुख्य द्वार के सामने कुलपति सहित कई पदाधिकारी, शिक्षक, कर्मचारी एवं विद्यार्थी एक-दूसरे का हाथ थामे आधे घंटे तक खड़े रहे।

श्रृंखला के बाद कुलपति डाॅ. अवध किशोर राय ने कहा कि यह श्रृंखला ‘जल-जीवन- हरियाली’ को बचाने हेतु और नशा, दहेज एवं बाल विवाह जैसी कुप्रथाओं के खिलाफ आयोजित की गई।कुलपति ने कहा कि बिहार सरकार सामाजिक सुधारों के लिए प्रतिबद्ध है। इसी कड़ी में यहाँ नशा, दहेज एवं बाल विवाह जैसी कुप्रथाओं के खिलाफ जागरूकता फैलाई जा रही है और जल-जीवन- हरियाली को बचाने की मुहिम शुरू हुई है।कुलपति ने कहा कि जल-जीवन एवं हरियाली तीनों एक-दूसरे से जुड़े हैं। जल है, तो जीवन है और हरियाली भी है। जल एवं हरियाली के बगैर मानव जीवन की कल्पना नहीं की जा सकती है। इसलिए हम सबों की यह जिम्मेदारी है कि हम जल-जीवन- हरियाली को बचाने में अपनी महती भूमिका निभाएँ।इस अवसर पर वित्तीय परामर्शी सुरेशचंद्र दास, विज्ञान संकायाध्यक्ष डाॅ. अशोक कुमार यादव, सामाजिक विज्ञान संकायाध्यक्ष डाॅ. आर. के. पी. रमण, आईक्यूएसी के डायरेक्टर डाॅ. मोहित कुमार घोष, कुलसचिव डाॅ. कपिलदेव प्रसाद, एनएसएस समन्वयक डाॅ. अभय कुमार, जनसंपर्क पदाधिकारी डाॅ. सुधांशु शेखर, विकास पदाधिकारी डाॅ. ललन प्रसाद अद्री परिसंपदा पदाधिकारी बी. पी. यादव, शिक्षक संघ के महासचिव डाॅ. अशोक कुमार, बीएनमुस्टा के महासचिव डाॅ. नरेश कुमार, कुलपति के निजी सहायक शंभु नारायण यादव, कर्मचारी संघ के अध्यक्ष डाॅ. राजेश्वर राय सहित दर्जनों शिक्षक, कर्मचारी एवं विद्यार्थी उपस्थित थे।