सदर थानाध्यक्ष राजमणि को डीआईजी से मिला प्रशस्ति पत्र

1911
नृतकी हत्याकांड में तत्कालीन थानाध्यक्ष पर गिरी गाज के बाद सिमरी बख्तियारपुर थानाध्यक्ष राजमणि बनाए गए सदर थानाध्यक्ष
सहरसा : सदर थाना में अच्छे कार्य के लिए कोशी रेंज के पुलिस उप महानिरीक्षक सुरेश प्रसाद चौधरी ने सदर थानाध्यक्ष राजमणि को प्रशंसनीय कार्य के लिए प्रशस्ति पत्र प्रदान किया। उन्होंने जारी पत्र में कहा है कि पुलिस अधीक्षक द्वारा दी गई जानकारी में माह दिसंबर 2019 में सदर थाना में कुल नौ विशेष कांड प्रतिवेदित हुए जिसके अनुपात में माह दिसंबर 2019 में कुल 43 विशेष प्रतिवेदित कांडों का निष्पादन किया गया। इसके अलावा कड़ी मेहनत कर महत्वपूर्ण कांड का उद्भेदन किया गया और बदमाशों की गिरफ्तारी की गई। उन्होंने कहा है कि यह कार्य कुशल एवं परिश्रमी पदाधिकारी का परिचायक है और उत्कृष्ट कोटि के कर्तव्यपरायणता को प्रदर्शित करता है। उन्होंने आगे भी बेहतर करने की उम्मीद जताई है।
बताते चलें कि बेतिया जिले के नवलपुर थाना से पदोन्नति ट्रांसफर होकर करीब एक साल पहले कोशी रेंज आए इन्स्पेक्टर राजमणि कुछ ही समय में सहरसा जिले में अपनी एक अलग पहचान बना लिया है। पहले बख्तियारपुर एसएचओ फिर सदर थाना की कमान संभाल रखी है।
ज्ञात हो कि सहरसा जिले सहित सदर थाना क्षेत्र में बीते कुछ माह में अपराध का ग्राफ बढ़ा लेकिन जितने भी बड़े अपराधिक वारदातें हुई उसमें पुलिस ने चन्द दिनों में खुलासा कर आरोपियों को सलाखों के पीछे भेजने का काम बड़ी तत्परता से किया। वहीं कई नामचीन बदमाशों व उसके गिरोह का भंडाफोड़ कर अमन-चैन लाने की कोशिश की।
डीआइजी से प्रशस्ति पत्र मिलने पर कई पुलिस पदाधिकारियों ने सदर थानाध्यक्ष को विभिन्न माध्यमों से बधाई दी है।