यातायात नियमों का पालन करने के साथ-साथ सभी को जागरूक करना जरूरी : शैलजा शर्मा

1390
सड़क सुरक्षा सप्ताह का शुभारंभ
सहरसा: यातायात नियमों का पालन आवश्यक है ताकि सड़क पर व्यक्ति सुरक्षित रह सके।दुर्घटना से एक परिवार प्रभावित होता है। यातायात के नियमों का पालन नहीं करते हुए वाहन चलाने वाले की गलती से दुर्घटना होती है तो प्रभावित व्यक्ति की भरपाई कौन करेगा, यह संवेदनशील प्रश्न है। वाहन चलाने में नियमों के पालन के साथ-साथ सावधानी से वाहन चलाने से ही दुर्घटना से बचा जा सकता है। आज के युवा काफी तेजी से त्रिपल लोड बिना हेलमेट, बिना लाइसेंस के वाहन चलाये जाने से उनके साथ-साथ सड़क पर चलने वाले लोगों को भी खतरा रहता है। इसके लिए सख्ती से नियमों का पालन करने के साथ-साथ सभी को जागरूक करना जरूरी है। जो वाहन चलाने में गलती कर रहे हैं उन्हें रोकें समझायें, ये सभी का कर्तव्य है। सब मिलकर सड़क सुरक्षा के प्रति लोगों को जागरूक करें तभी सड़क दुर्घटना में कमी आएगी।
उपरोक्त बातें आज जिलाधिकारी शैलजा शर्मा ने विकास भवन के सभागार में सड़क सुरक्षा सप्ताह के शुभारंभ कार्यक्रम का द्वीप प्रज्जवलित करते हुए उन्होंने अपने संबोधन में कहा।
इस अवसर पर पुलिस अधीक्षक राकेश कुमार ने कहा कि सड़क दुर्घटना का मुख्य कारण जागरूकता की कमी है। वाहन चलाने वाले के साथ-साथ सड़क पर चलने वाले व्यक्ति को भी जागरूक रहना जरूरी है। सड़क दुर्घटना के मामलों में दुपाहिया वाहन से दुर्घटना
की संख्या अधिक रहती है। दुपहिया वाहनों में त्रिपल लोडिंग एवं बिना हेलमेट के चलाने में दुर्घटना की अधिक संभवना रहती है। उन्होंने कहा कि केवल सड़क सुरक्षा सप्ताह के दरम्यान हीं नहीं बल्कि सामान्य दिनों में भी लोगों को जागरूक करना आवष्यक है। विशेषकर युवाओं को यातायात नियमों के विषय में जानकारी देना जरूरी है।
जिला परिवहन पदाधिकारी राकेश कुमार ने सड़क सुरक्षा सप्ताह के महत्व के विषय में जानकारी देते हुए कहा कि 11 जनवरी, 2020 से 17 जनवरी, 2020 तक सड़क सुरक्षा सप्ताह का आयोजन किया जा रहा है। इस अवधी में सघन वाहन जांच अभियान चलाये जाएंगे। इसके अतिरिक्त जागरूकता हेतु विभिन्न कार्यक्रमों का आयोजन किया जा रहा है। 11 जनवरी, 2020 को हेलमेट एवं शीटबेल्ट विषेष जांच अभियान चलाये जाएंगे। 12 जनवरी को सोनवर्षा में रक्तदान शीविर का आयोजन किया गया है तथा पुलिस लाईन में वाहन फिटनेस जांच शीविर बनाया गया है। वहीं 13
जनवरी 2020 को कला भवन, सहरसा में नेत्र एवं स्वास्थ्य जांच शीविर तथा वाहनों के पी.यू.सी. की विशेष जांच(मोबाइल रैम पी॰यू॰सी॰ वैन के माध्य से) कार्यक्रम चलाये जाएंगे। इसके अलावा इस दिन महाविद्यालयों में टेफिक गेम एवं क्यूज प्रतियोगिता आयोजित की जा रही है। 14 जनवरी, 2020 को कला भवन, सहरसा में वाहन बीमा दावों के निबटारे हेतु शीविर एवं श्रद्धांजलि सभा का आयोजन तथा वाहनों के परमीट एवं इन्सयोरेंस का जांच अभियान चलाया जाएगा। 15 जनवरी,
2020 को महाविद्यालयों में सड़क सुरक्षा समिति संबंधी पेंटिंग और स्लोगन प्रतियोगिता एवं ग्रुप डिस्कसन तथा अभियान के तहत चालक अनुज्ञप्ति एवं नाबालिगों
द्वारा वाहन चलाने का जांच अभियान चलाया जाएगा। बस स्टेंड, सहरसा में ड्राइवर टेªनिंग प्रोग्राम तथा अभियान के नो स्माॅकिंग कार्यक्रम 16 जनवरी, 2020
को निर्धारित है। 17 जनवरी, 2020 को सड़क सुरक्षा सप्ताह के समापन सत्र एवं पेंटिंग/स्लोगन प्रतियोगिता का पुरस्कार वितरण समारोह तथा एन.एच/एस.एच. पर ओवर लोडिंग जांच का विशेष अभियान चलाया जाएगा। सड़क सुरक्षा सप्ताह के अवधी में आयोजित कार्यक्रमों में अधिक से अधिक संख्या में लोगों से सम्मिलित होकर इसका लाभ उठाने की अपील की गयी।
 इस अवसर पर अपर समाहर्ता धीरेंद्र झा,उप विकास आयुक्त राजेश कुमार सिंह,जिला परिवहन पदाधिकारी राकेश कुमार,सिविल सर्जन ललन सिंह, जिला शिक्षा पदाधिकारी जयशंकर कुमार,अनुमंडल पदाधिकारी शम्भूनाथ झा,सदर,अनुमंडल पुलिस पदाधिकारी प्रभाकर तिवारी,,एमभीआई संतोष कुमार सिंह,ट्रैफिक इंचार्ज नागेन्द्र राम सहित पुलिस के पदाधिकारी एवं कर्मी, ट्रोसपोर्ट एसोसिएशन के प्रतिनिधि एवं अन्य उपस्थित थे।