जेई टीकाकरण को लेकर कमिटी गठित,3 फरबरी से चलेगा अभियान

1361

शत प्रतिशत टीकाकरण करने पर होगा ज़ोर
प्रखंड स्तर पर टास्क फोर्स का गठन

मधुबनी: जिले में आगामी 3 फरवरी से जापानी इनसेफलाइटिस की रोकथाम के लिए टीकाकरण अभियान की शुरुआत की जाएगी। इसको लेकर बुधवार को जिला समाहरणालय के सभागार में सिविल सर्जन एसपी सिंह की अध्यक्षता मे बैठक का आयोजन किया गया ।15 साल तक के बच्चों का होगा प्रतिरक्षण:

इस अवसर पर सिविल सर्जन एस के सिंह ने कहा जापानी इनसेफलाइटिस(जेई) की रोकथाम के लिए 9 माह से 15 साल तक के बच्चों का टीकाकरण किया जाएगा। जेई के अधिकांश मामले 15 साल तक के बच्चों में देखने को मिलते है। इसलिए 15 साल तक के बच्चों को टीका देने का फैसला किया गया है। जेई क्यूलेक्स नामक मच्छर के काटने से होता है। यह मच्छर धान के खेत एवं तालाब के पानी में अधिक पनपते हैं।उन्होंने बताया मरीज में बुखार आना, ठंड लगना, थकान महसूस होना एवं उलटी आना जैसे लक्षण जेई के होते हैं। साथ ही जेई के गंभीर मामले में रोगी कोमा में भी जा सकता है।इसका एक मात्र बचाव टीकाकरण है ।जेई का टीका पूर्णतः सुरक्षित है तथा इसका कोई साइड इफ़ेक्ट नहीं है।शत-प्रतिशत टीकाकरण होगा लक्ष्य:

जिला प्रतिरक्षण पदाधिकारी डॉ.शैलेन्द्र कुमार विश्कर्मा ने बताया अभियान के दौरान शत-प्रतिशत चिन्हित बच्चों का टीकाकरण करने का लक्ष्य निर्धारित किया गया है ।यह अभियान क्लस्टर वाइज चलाया जायगा।स्कूली बच्चों का होगा टीकाकरण:

जिला शिक्षा पदाधिकारी ने कहा शत-प्रतिशत बच्चों को टीकाकरण आवश्यक सहयोग देने को कहा गया समेकित बाल विकास योजना के जिला कार्यक्रम पदाधिकारी को सहयोग देने का आग्रह किया गया हैं। टीकाकरण के लक्ष्य प्राप्ति के लिए शिक्षा विभाग द्वारा भी पूर्ण सहयोग प्रदान किया जाएगा। हमारी यह कोशिश होगी 15 साल तक के सभी स्कूली बच्चों का टीकाकरण हो जाए।शुरुआती 15 दिनों में स्कूली बच्चों का होगा टीकाकरण:

बैठक के माध्यम से जानकारी दी गई कि शुरुआत मे 15 दिन स्कूल मे टीकाकरण अभियान चलाया जाएगा। आईसीडीएस के सीडीपीओ को सामुदायिक स्तर पर अभियान को लेकर सूक्ष्म कार्ययोजना बनाने का निर्देश भी दिया गया। साथ ही प्रखण्ड विकास पदाधिकारियों को आपसी समन्वय स्थापित करते हुए अभियान को सफल बनाने की अपील की गई।सामूहिक सहभागिता पर बल:

इस दौरान जिला स्तरीय एवं प्रखण्ड स्तर पर टास्क फोर्स की बैठक आयोजित करने, मुखिया तथा वार्ड सदस्यों,निजी विद्यालयों, स्वयं सेवी संस्थाओं को भी संवेदित करने तथा छात्रों के माध्यम से, माता बैठक, बैनर पोस्टर, रैली के माध्यम जागरूकता अभियान चलाकर शत प्रतिशत लक्ष्य प्राप्त करने पर बल दिया जायगा ।

बैठक मे आईसीडीएस की डीपी ओ रश्मि वर्मा, जिला शिक्षा पदाधिकारी , ग्राम विकास के प्रतनिधि, केयर इंडिया के डीटी एल महेंद्र सिंह, डीपीएम दया शंकर निधि, डी सी एम नवीन दास, डब्लू एच ओ के डॉ.राजेंद्र कुमार सिंह, आदर्श वर्गीज, डॉ प्रकाश नायक, विमल जायसवाल, जीविका के प्रतिनिधि, एस एम सी प्रमोद कुमार, यु एन डी पी के अनिल कुमार आदि उपस्थित थे।