गैर राजनीतिक तरीके से समाज में चेतना लाना है सराहनीय कदम : डॉ सी पी ठाकुर

1570

ब्रह्मजन चेतना मंच का मकसद राजनीति नहीं बल्कि विशुद्ध सामाजिक : सच्चिदानंद राय

पटना : ब्रह्मजन चेतना मंच द्वारा 21 वीं सदी में भारत के स्वाभिमान और विकास को दिशा देने वाले अजातशत्रु एवं पूर्व प्रधानमंत्री भारतरत्न अटल बिहारी वाजपेयी की स्मृति में अटल स्वाभिमान सभा का आयोजन पटना के श्री कृष्ण  मेमोरियल हॉल में किया गया। इसकी अध्यक्षता संजय कुमार ने की और संचालन कृष्णकांत ओझा ने किया। इस मौके पर भारत रत्न पूर्व प्रधानमंत्री अटल बिहारी वाजपेयी और महामना पंडित मदन मोहन मालीवय को श्रद्धांजिल दी गई।कार्यक्रम में मुख्य अतिथि के रूप में सभा को संबोधित करते हुए राज्य सभा सांसद डॉ सी पी ठाकुर ने ब्रह्मजन समाज में चेतना लाने के इस गैर राजनीतिक कदम को सराहनीय बताया। उन्हों ने कहा कि ब्रह्मजन समाज वैदिक काल से चेतनशील रहा है। लेकिन जब देश धीरे – धीरे गुलाम हुआ और मुसलमान शासकों के साथ – साथ अंग्रेजों की 700 सालों की गुलामी झेलनी पड़ी, तब इस समाज में चेतना पर हमला किया गया। उन्होंने कहा कि हमें आभार व्‍यक्‍त करना चाहिए महात्मा गांधी जी का, जिनकी भूमिका ब्रह्मजन एकता को जगाने में रही।

डॉ ठाकुर ने कहा कि आज ई. सच्चिदानंद राय जी के नेतृत्व में ब्रह्मजन समाज के लिए सामाजिक स्तर पर शुरू हुआ कार्य अच्छी पहल है। अच्छी बात है कि यह शुरूआत गैर राजनीतिक है। यह काम सामाजिक है। वहीं, ब्रह्मजन चेतना मंच के गठन पर मंच के अध्यचक्ष ई. सच्चिदानंद राय ने बताया कि मंच का गठन राजनीति के लिए नहीं बल्कि समाज सेवा के लिए किया गया है। समाज को कुछ देने की कोशिश है। आज के समय में ब्राह्मण-भूमिहार समाज अपने आप को उपेक्षित महसूस कर रहा है। समाज के युवाओं में इसको लेकर काफी गुस्सा देखने को मिल रहा है। अपने जनप्रतिनिधियों के प्रति भी समाज में गुस्सा है।  उन्हों ने बताया कि इस प्लेटफॉर्म के माध्यम से शिक्षा, चिकित्सा और रोजगार के क्षेत्र में समाज के लोगों को मदद किया जाएगा।  एक अभ्यानंद अपने दम पर आईआईटी में एडमिशन को लेकर सुपर 30 संचालित करते हैं, अगर उनके साथ समाज के कई लोग आगे आएंगे तो ये सुपर 100 या सुपर 1000 भी हो सकता है। ये प्लेटफॉर्म छात्रों को इंजीनियरिंग, मेडिकल की तैयारी के साथ ही बाकि शिक्षा के क्षेत्र में मदद करेगा। और भी कई जनहित के कार्य हैं, जो इस मंच के जरिये किये जाने हैं, उसी संबंध में चर्चा के लिए अटल स्वाभिमान सभा का आयोजन किया गया है। सभा को पूर्व आई पी एस अधिकारी अभ्ययनांद ने भी वीडियो कांफ्रेंसिंग के जरिये संबोधित किया।सच्चिदानंद राय ने कहा कि ब्रह्मजन समाज के युवाओं को रोजगार दिलाने में भी मंच मदद करेगा। उन्होंने कहा कि आने वाले चार महीने में बिहार के सभी प्रखंडों में संगठन तैयार कर लिया जाएगा। समाज के लोगों को इस मंच से जोड़ने को लेकर आधुनिक तकनीक का प्रयोग किया जाएगा। इसको लेकर एक ऐप और हेल्पलाईन नंबर जारी किया जाएगा। जिससे ज्यादा से ज्यादा संख्या में समाज के लोग इस मंच से जुड़ सकें।सभा को संबोधित करते हुए जे एन त्रिवेदी ने कहा कि आज अगर ब्रह्मजन हमारे महापुरूष अटल जी और मालवीय जी का अनुकरण करें, तो हमारा समाज काफी आगे बढ़ सकता है। आज ब्रा‍ह्मण का दायित्वक भारत वर्ष में बढ़ा है, क्योंकि हमेशा ब्रह्मजनों ने समाज को आगे बढ़ाने का काम किया है।  कार्यक्रम को सांसद चंदन कुमार, विधान पार्षद टुन्ना पांडेय, जनार्दन शर्मा योगी, मनोज मिश्रा, अनंत अभिषेक त्रिवेदी, ब्रह्मजन एकता परिषद के प्रकाश नारायण सिंह उर्फ छोटे बाबू, पंडित जी पांडे, मंटू शर्मा और अरविंद कुमार आदि लोगों ने भी संबोधित किया।