मुस्लिम राष्ट्रीय मंच नागरिकता संशोधन कानून को लेकर जनजागरण अभियान चलाएगी

1320
विपक्ष द्वारा समाज में भ्रम फ़ैलाने और भय का माहौल बनाया जा रहा : लुकमान
सहरसा : मुस्लिम राष्ट्रीय मंच नागरिकता कानून का समर्थन करते हुए जनजागरण अभियान चलाएगी।मुस्लिम राष्ट्रीय मंच के संयोजक सह राष्ट्रीय आतंकनाशी मंच के प्रदेश संयोजक लुक़मान अली ने इस बिल का समर्थन करते हुए कहा कि केंद्र की सरकार ने जो नागरिकता संशोधन कानून लाया हैं उसको लेकर समाज में भ्रम फ़ैलाने का और भय का माहौल बनाने का काम कांग्रेस,कट्टर पंथी नेता और लेफ्ट तथा सेक्युलर पार्टियाँ लगातार कर रही हैं. उसके चलते देश के अनेक हिस्सों में प्रदर्शन, हिंसा, आगजनी की घटनाएँ हो रही है. असम तथा पूर्वोत्तर के अनेक राज्यों में, दिल्ली के  जामिया मिलिया में और देश में अन्य स्थानों पर भी इस कानून के विरोध में हिंसक आन्दोलन और प्रदर्शन हो रहे हैं.मुस्लिम राष्ट्रीय मंच इस प्रकार की हिंसक आंदोलनों की कड़े शब्दों में निंदा करता हैं।
लुकमान ने कहा कि नागरिकता संशोधन कानून यह किसी भारतीय नागरिक की नागरिकता छिनने नहीं बल्कि हमारे देश में जो शरणार्थी आये हैं उनको नागरिकता प्रदान करने हेतु बनाया गया हैं. अतः सच्चाई जाने बगैर इस प्रकार के हिंसक आन्दोलन पर उतारू होना ठीक नहीं हैं.
1947  में भारत के विभाजन के साथ हमें स्वतंत्रता मिली. यह विभाजन धर्म के आधार पर हुआ था जिसको कांग्रेस ने स्वीकार किया था. पाकिस्तान और बाद में बना बांग्लादेश और अफ़ग़ानिस्तान यह तीनो देश घोषित इस्लामिक देश हैं. इन देशों से प्रताड़ित होकर जो हिन्दू, सिक्ख, बौद्ध, जैन, पारसी और ईसाई शरणार्थी भारत में आये उनको नागरिकता देने के लिए इस कानून को भारत की केंद्र सरकार ने संसद में लाया और बहुमत से दोनों सदनों में पारित कराया हैं. इस कानून के पारित होने से भारत के 130 करोड़ नागरिकों को कोई खतरा नहीं हैं. लेकिन कुछ राजनितिक पार्टियाँ लोगों को खास कर मुसलमानों को यह कह कर भड़का रही हैं की इस कानून से उनकी नागरिकता छिनी जाएगी. यह वही पार्टियाँ हैं जिन्होंने मुसलमानों को सब प्रकार से पिछड़ा और जलालत में रखा और उनका वोट बैंक के तौर पर इस्तेमाल किया.
मुस्लिम राष्ट्रीय मंच भारत के नागरिकों को, खास कर मुसलमानों को यह अपील करता हैं की वे ऐसी पार्टियों के बहकावे में ना आये. इनके चक्कर में फंसोगे तो आपके लिए कठिनाई पैदा हो सकती हैं. भारत सरकार ने पाकिस्तान से आये ६२७ मुसलमानों को भी भारत की नागरिकता दी हैं. झूट पर आधारित प्रचार कर कांग्रेस और लेफ्ट तथा अन्य पार्टियाँ आप को बहका रही हैं, भड़का रही हैं ताकि देश में एक अशांति के माहौल बना रहे और देश प्रगति और विकास के रास्ते से भटक जाए.लेफ्ट पार्टियाँ तो बंगाल से बेदखल हो चुकी हैं अब कांग्रेस के साथ मिलकर वे आप को तकलीफ में डालना चाहते हैं. इसलिए इनसे सावधान रहिये और किसी प्रकार की हिंसा से दूर रहने की अपील लुकमान अली ने की ।