बिहार के चप्पे-चप्पे पर आनंद मोहन के संघर्षों की कहानी लिखी है:लवली आनंद

1350
निर्दोष रहते विगत 13 बर्षों से सलाखों में क़ैद
चंपारण/केसरिया : ‘फ्रेंड्स ऑफ आनंद’  के तत्वावधान में डीपीएस स्कूल केसरिया के प्रांगण में आनंद मोहन की दोषमुक्त,  सम्मानजनक रिहाई के सवाल पर एक महती जनसभा संपन्न हुई ।
सभा को संबोधित करती हुई वैशाली की पूर्व सांसद लवली आनंद ने कहा कि मैं बर्षों बाद  केसरिया आई हूं । यहां से मेरी अनेकों यादें जुड़ी हैं । 90 के दशक में जब हम बिहार में भ्रष्टाचार,  कुशासन और तानाशाही के खिलाफ लड़ रहे थे तो यहां हमें आपसब का भरपूर समर्थन और प्यार मिला ।  उन्होंने आगे कहा -बिहार के चप्पे-चप्पे पर आनंद मोहन के संघर्षों की कहानी लिखी है ।वे हर तरह के अन्याय , शोषण और भ्रष्टाचार के खिलाफ लड़ते रहे । सदैव आपके सुख-दुख में साथ खड़े रहे । आज निर्दोष रहते जब वे विगत 13 बर्षों से सलाखों में क़ैद हैं ,तो ऐसे में उनकी दोषमुक्त,  सम्मानजनक रिहाई के संघर्ष में हमारा साथ देना आपका फ़र्ज़ बनता है ।
श्रीमती आनंद ने 5 जनवरी 2020 को आनंद मोहन की रिहाई के सवाल पर दिल्ली स्थित जंतर-मंतर पर होने वाले ‘महा धरना’ और बापू बलिदान दिवस 30 जनवरी को बापू सभागार पटना में उनकी तीसरी नई पुस्तक “गांधी” (कैक्टस के फूले) के भव्य लोकार्पण में आने का किया आह्वान ।
इस दौरान चेतन आनंद सहित अन्य स्थानीय फ्रेंड्स ऑफ आंनद के कार्यकर्ता व समर्थक मौजूद रहे ।