देश में  बन गया है इमरजेंसी का माहौल: सहनी

876

जनता के मुद्दों पर लोकतंत्र से मिले प्रदर्शन के अधिकार को खत्‍म कर रही है पटना पुलिस : मुकेश सहनी

प्रदर्शन से पहले ही देर रात विकासशील छात्र मोर्चा के प्रदेश अध्‍यक्ष के परिवार के सदस्य को पुलिस ने कर लिया गिरफ्तार, तो गिरफ्तारी देने थाने पहुंचे वीआईपी चीफ

पटना : एनआरसी, नागरिकता संशोधन कानून और बढ़ते महिला उत्‍पीड़न की घटना के खिलाफ विकासशील छात्र मोर्चा द्वारा आहूत पदयात्रा से पूर्व ही देर रात पुलिस ने छात्र के प्रदेश अध्‍यक्ष विकास बॉक्‍सर के भाई को गिरफ्तार कर लिया, जिसके खिलाफ अपने सैकड़ों समर्थकों के साथ गिरफ्तारी देने पत्रकारनगर थाना पहुंचे विकासशील इंसान पार्टी के राष्‍ट्रीय अध्‍यक्ष मुकेश सहनी ने केंद्र व राज्‍य की सरकार पर जोरदार हमला बोला।मुकेश सहनी ने कहा कि देश में इमरजेंसी जैसा माहौल है। यहां जनता के मुद्दों पर उठने वाली हर आवाज को बंद करने की कोशिश की जा रही है, जो लोकतंत्र में मिलने वाले अधिकारों की हत्‍या है। उन्‍होंने कहा कि सोमवार को विकासशील छात्र मोर्चा द्वारा बिहार तथा देश में बढ़ रहे बलात्कार तथा महिला उत्पीड़न के खिलाफ पटना में प्रदर्शन किया जाना था। प्रदर्शन से ठीक पहले रविवार की आधी रात के बाद पुलिस द्वारा छात्र मोर्चा के प्रदेश अध्यक्ष विकास बॉक्सर की गिरफ्तारी की गई। पुलिस द्वारा यह गिरफ्तारी विकासशील छात्र मोर्चा के प्रदर्शन को रोकने की साजिश के तहत किया गया। पुलिस के आला अधिकारी के आदेश पर यह गिरफ़्तारी की गई।मुकेश सहनी ने कहा कि लोकतंत्र में सरकार के खिलाफ तथा जनता के मुद्दों को लेकर प्रदर्शन करना हमारा अधिकार है। पुलिस द्वारा हमें हमारे अधिकार से वंचित करने की कोशिश की जा रही है। प्रशासन तथा सरकार का यह रवैया दर्शाता है कि देश में इमरजेंसी का माहौल बन गया है। इसके विरोध में हम अपने सैकड़ों समर्थकों के साथ गिरफ़्तारी देने आए हैं।उन्होंने कहा कि बिहार सहित पुरे देश की कानून व्यवस्था बिगड़ी हुई है। सरकार तथा प्रशासन कानून व्यवस्था ठीक करने के बजाय हमारी आवाज तथा हमारे अधिकार को दबाने में लगी हुई है। मगर सरकार को यह याद रहे कि राज्य तथा देश में विपक्ष अभी ज़िंदा है तथा हम सरकार तथा प्रशासन की ऐसी मनमानी के खिलाफ मजबूती से डटे हैं। उन्होंने कहा कि हम सरकार को मनमानी नहीं करने देंगे।मुकेश सहनी के नेतृत्व में पार्टी के सैकड़ों युवाओं द्वारा प्रदर्शन के पश्चात पुलिस द्वारा गिरफ्तार छात्र को रिहा किया गया।