NRC और CAB बिल के खिलाफ जाप ने फूंका प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी का पुतला

1982

16 दिसंबर को महिला उत्‍पीड़न, NRC और CAB के खिलाफ राज्‍यभर में जाप (लो) करेगी धरना – प्रदर्शन : प्रेमचंद सिंह

पटना:  केंद्र की नरेंद्र मोदी सरकार द्वारा नागरिकता संशोधन बिल 2019 बिल पास होने के बाद जन अधिकार पार्टी (लो) का विरोध दूसरे दिन भी जारी रहा, जब पार्टी के प्रदेश अध्यक्ष  रघुपति प्रसाद सिंह के नेतृत्व में पटना विश्वविद्यालय से पुतला जुलूस निकाला गया। यह जुलूस राजधानी पटना के कारगिल चौक आकर समाप्त हुआ, जहां जाप (लो) नेताओं ने देश के प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी का पुतला दहन किया गया। इस मौके पर जाप(लो) के प्रदेश अध्यक्ष रघुपति सिंह ने कहा कि केंद्र की मोदी सरकार के द्वारा लाये गए NRC और CAB बिल के प्रावधान असंवैधानिक और संविधान के मूल्य की आत्मा के खिलाफ है। यह बाबा साहब डॉक्टर भीमराव अंबेडकर के संविधान और धर्मनिरपेक्षता की भावना के भी खिलाफ है।

उन्होंने कहा कि मोदी सरकार तानाशाह हो गई है और जो दिल में आता है, वही कर रही है। इसका देश पर क्‍या होगा, इसकी चिंता उन्हें अब नहीं है। यही वजह है कि आज जिस तरह से हिंदू राष्ट्र बनाने की कोशिश जबरदस्ती कानून बनाकर हो रही है, उससे देश की एकता और अखंडता पर खतरा है। इससे देश में गृहयुद्ध जैसी स्थिति बनती जा रही है। असम और पूर्वोत्तर के राज्यों में इस बिल से तहलका मचा हुआ है। हालात ऐसे बन गए हैं कि वहां सेना को भेजकर विद्रोह को कुचलने की कोशिश की जा रही है। यह गलत और निंदनीय है। पार्टी मोदी सरकार के इस कदम की तीखी भर्त्‍सना करती है और इस बिल को वापस लेने की मांग करती है।वहीं, पुतला दहन के बाद पार्टी के राष्ट्रीय महासचिव सह प्रवक्ता प्रेमचंद सिंह ने कहा कि जन अधिकार पार्टी NRC और CAB बिल के खिलाफ पूरी मजबूती से अपना विरोध दर्ज करातेआ रही है और आगामी 16 दिसंबर को  पार्टी की ओर से प्रदेश भर के सभी जिला मुख्यालयों पर धरना दिया जाएगा। मुद्दा बेटियों का भी होगा जो देश की डबल इंजन वाली सरकार के एजेंडे से बाहर है। हैदराबाद की घटना के बाद बिहार – यूपी में बलात्कार कर जला देने की घटना में काफी तेजी आई है, लेकिन ना तो इसकी चिंता प्रदेश की सरकार को है और ना ही केंद्र सरकार को है। केंद्र सरकार एक ओर देश तोड़ने वाली नीतियां बनाने में व्यस्त है, तो नीतीश कुमार ने खुद को आरएसएस की गोद में बिठाकर अपने सेक्‍यूलर मूल्यों को बेचने का काम किया है। इसलिए प्रदेश की जनता से अपील है कि वे 16 दिसंबर को अपने-अपने जिला मुख्यालयों पर आकर NRC, CAB और महिला उत्पीड़न के खिलाफ अपनी आवाज बुलंद करें।

पुतला दहन कार्यक्रम में प्रदेश अध्यक्ष रघुपति प्रसाद सिंह, प्रेमचंद सिंह के अलावा अवधेश कुमार लालू, शंकर पटेल, बबन यादव, अशोक कुमार, जावेद इकबाल, अनिल कुमार, अरुण कुमार सिंह, आजाद चांद, विशाल कुमार, रौशन कुमार, मनीष कुमार, नितेश सिंह, आमिर राजा, आदित्य, रेणु जयसवाल, दिलीप यादव, मनोज यादव, श्याम नंदन यादव, राम अयोध्या यादव, आनंद देव, निरंजन यादव सहित सैकड़ों कार्यकर्ता शामिल थे।