संतोष कुशवाहा बने वीआईपी के बिहार प्रदेश के प्रभारी

1309

विकासशील इंसान पार्टी की विचारधारा से प्रभावित होकर पार्टी में बड़ी संख्या में शामिल हो रहे हैं युवा- मुकेश सहनी

पटना:  विकासशील इंसान पार्टी के वरिष्ट नेता संतोष कुशवाहा को पार्टी के बिहार प्रदेश का प्रभारी नियुक्त किया गया है।  पार्टी अध्यक्ष सन ऑफ़ मल्लाह मुकेश सहनी ने पटना में आयोजित कार्यक्रम में उन्हें पदभार सौंपा।  साथ ही डॉ विश्वनाथ प्रसाद को पार्टी का प्रदेश प्रवक्ता नियुक्त किया गया।  इस अवसर पर पार्टी की विचारधारा तथा पार्टी नेताओं की कार्यशैली से प्रभावित होकर प्रदेश के विभिन्न क्षेत्रों के 51 युवाओं ने जद(यू) छोड़कर विकासशील इंसान पार्टी की सदस्यता ग्रहण की। इस अवसर पर पार्टी अध्यक्ष मुकेश सहनी ने कहा कि पार्टी की विचारधारा और कार्यों को गांव-गांव में घर-घर तक पहुंचाया जा रहा है।  हमारी कार्य कुशलता तथा पार्टी की विचारधारा से प्रभावित होकर जद(यू) से विकासशील इंसान पार्टी में शामिल हुए तमाम युवाओं का वीआईपी परिवार में स्वागत है।  आने वाले समय में उनकी कार्य क्षमता तथा कार्य कौशल के अनुसार इनका पार्टी में उचित प्रतिनिधित्व सुनिश्चित किया जाएगा।   सन ऑफ़ मल्लाह ने कहा कि अत्यंत कम समय में ही वीआईपी बिहार के युवाओं की पार्टी बन गई है।  प्रदेश के सभी वर्ग के युवा समाज के हक़-अधिकार की लड़ाई के लिए वीआईपी से जुड़ रहे हैं।  आज वर्तमान सरकार की जन विरोधी-युवा विरोधी नीतियों को देखकर हक़-अधिकार की लड़ाई बुलंद करने ये युवा साथी जद(यू) से वीआईपी में शामिल हुए हैं।  वीआईपी आज बिहार के मुख्य धारा की पार्टी बन चुकी है।  हजारों की संख्या में लोग पार्टी से जुड़कर इसे अत्यंत मजबूती प्रदान कर रहे हैं।  वीआईपी समाज के हर तबके के हक़-अधिकारों को लेकर लगातार संघर्ष कर रही है।  पार्टी का उद्देश्य हमेशा से समाज के हर वर्ग को साथ लेकर चलने का रहा है तथा पार्टी इसी उद्देश्य से निरंतर कार्य कर रही है।इस दौरान संतोष कुशवाहा ने पार्टी में युवाओं को उचित प्रतिनिधित्व देने के लिए सन ऑफ़ मल्लाह मुकेश सहनी को बधाई देते हुए कहा कि वे पार्टी की विचारधारा को पंचायत स्तर से बूथ स्तर तक मजबूत करने के लिए निरंतर कार्य कर रहे हैं। इस अवसर पर धीरज गोस्वामी, सतीश कुमार, शशि पटेल, इकबाल अंसारी, राजीव रंजन, कौशल कुमार, राम निवासी, मुकेश यादव, केदार राय, रविकेश कुशवाहा, परवेज आलम, प्रीतम शाही, विश्वनाथ प्रसाद, अशोक कुशवाहा, एम  बुखारी, सहित 51 युवाओं ने सत्ताधारी जनता दल(यू) को छोड़कर वीआईपी की सदस्यता ग्रहण की।