पीएमएमवीवाई सप्ताह के तहत 4239 नए लाभुकों का पंजीयन

1160

सप्ताह के दौरान फैलाई गयी जागरूकता
घोघरडीहा ब्लॉक में सबसे ज्यादा 691 महिलाओं का पंजीयन
जिला, प्रखंड एवं पंचायत स्तर पर चलाया गया था अभियान

मधुबनी  : जिला में 2 से 8 दिसम्बर तक प्रधानमंत्री मातृ वंदना योजना(पीएमएमवीवाई) सप्ताह का आयोजन किया गया. इस दौरान पूरे जिले में 4239 नए लाभुकों का पंजीयन किया गया. घोघरडीहा ब्लॉक में सर्वाधिक पंजीयन: जिला कार्यक्रम पदाधिकारी आईसीडीएस रश्मि वर्मा ने बताया जिला में 2 से 8 दिसम्बर तक यह अभियान जिले से लेकर ब्लॉक एवं पंचायत स्तर पर सघन रूप से चलाया गया. जिसमें कुल 4239 योग्य माताओं का पंजीयन किया गया. अभियान के दौरान जिले में कुल 15435 आवेदनों के रजिस्ट्रेशन का लक्ष्य रखा गया था, जिसके सापेक्ष 27.46 प्रतिशत पंजीयन हुआ है. जिला के घोघरडीहा ब्लॉक में सर्वाधिक 691 नए लाभुकों का पंजीयन किया गया. अभियान के दौरान अधिक से अधिक लोगों को जागरूक करने के लिए जागरूकता अभियान भी चलाया गया. महिलाओं को इस योजना के विषय में जानकारी दी गयी है. साथ ही आंगनबाड़ी केन्द्रों पर आने वाली महिलाओं के साथ घर-घर जाकर भी लोगों को योजना के तहत मिलने वाली प्रोत्साहन राशि के विषय में जानकारी दी गयी.
जिला में 39212 महिलाओं को मिला लाभ: प्रधानमंत्री मातृ वंदना योजना के तहत प्रथम बार माँ बनने वाली महिलाओं को तीन किस्तों के माध्यम से 5000 रूपये की प्रोत्साहन राशि देने का प्रावधान है. जिला में अभी तक कुल 39212 महिलाओं को विभिन्न किस्तों के माध्यम से लाभ मिल चुका है. जिसमें 10918 योग्य महिलाओं कोपहला , 20882 महिलाओं को दूसरा तथा 7412 महिलाओं को तीसरा किस्त मिल चुका है.
यह है योजना: इस योजना के तहत प्रथम बार माँ बनने वाली माताओं को 5000 रुपये की सहायक धनराशि दी जाती है, जो सीधे गर्भवती महिलाओं के खाते में पहुँचती है. इस योजना के तहत दी जाने वाली धनराशि को तीन किस्तों में दिया जाता है. पहली क़िस्त 1000 रुपये की तब दी जाती है जब गर्भवती महिला अंतिम मासिक चक्र के 150 दिनों के अंदर गर्भावस्था का पंजीकरण कराती है. दूसरी किस्त में 2000 रुपये गर्भवती महिला को गर्भावस्था के 6 माह पूरा होने के बाद कम से कम एक प्रसव पूर्व जाँच कराने पर दी जाती है. तीसरी और अंतिम किश्त में 2000 रुपये बच्चे के जन्म पंजीकरण के उपरांत एवं प्रथम चक्र का टीकाकरण पूर्ण होने के बाद प्रदान की जाती है.