समुचित स्वास्थ्य सुविधाएं प्रदान करना अपका धर्म एवं कर्तव्य:डीएम

181
डेटा इंट्री नही होने पर असंतोश जताया
सहरसा : आपसे जरूरतमंद एवं गरीब लोग जुड़े हैं। उन्हें समुचित स्वास्थ्य सुविधाएं प्रदान करना अपका धर्म एवं कर्तव्य है। जिलाधिकारी शैलजा शर्मा ने स्वास्थ्य विभाग की मासिक बैठक में उक्त बातें कहीं। प्रभारी चिकित्सा पदाधिकारी के स्तर से माॅनिटरिंग नहीं किया जाना असंतोशजनक है। स्वास्थ्य पारामीटर के सभी बिंदुओं पर प्रगति लाये।
जिलाधिकारी ने स्वास्थ्य योजनाओं से
संबंधित पैरामीटर पर जिले की प्रगति एवं रैंकिंग असंतोशजनक रहने पर नाराजगी व्यक्त की। सुधार लाने के निर्देश दिए गए। डेटा इंट्री नही होने पर असंतोश जताया। डेटा इंट्री ऑपरेटर एवं लैब तकनीषियन के कार्य से अनुपस्थित रहने पर प्रभारी चिकित्सा पदाधिकारी को उनका मानदेय भुगतान पर रोक लगाने का निर्देश दिया गया। महिषी और पतरघट के बी.एच.एम. के वेतन भुगतान पर रोक लगाने का आदेश दिया गया। कार्य में प्रगति होने पर ही वेतन दिया जाएगा।
जिला समन्वय की बैठक में विभिन्न विभागों के साथ समन्वय हेतु भाग लेने का निर्देश दिए गए। आयुष्मान भारत में एम्पनलमेंट पर्याप्त नहीं रहने पर कहा कि अच्छे डाॅक्टर एवं नर्सिंग होम,अस्पताल के जुड़ने से इस योजना के तहत बेहतर स्वास्थ्य सुविधाएं मरीजों को मिलेगी।
सिविल सर्जन को निर्देश दिये गए कि वे जिले के अच्छे पै्रक्टिसनर एवं नर्सिंग होम अस्पताल के साथ मिटींग कर उन्हें आयुष्मान भारत योजना से सूचीबद्ध करें।
 बैठक में सिविल सर्जन, सभी प्रभारी चिकित्सा पदाधिकारी एवं स्वास्थ्य विभाग के कर्मी एवं अन्य मौजूद थे।