शिक्षा,स्‍वास्‍थ्‍य और सुरक्षा रसातल में,क्‍या ऐसे आयेगा बिहार में बहार :शिवेंद्र

123

शिक्षा सुधार आंदोलन को लेकर रालोसपा ने निकाला मशाल जुलूस, बाद में फूंका मुख्‍यमंत्री नीतीश कुमार का पुतला

सहरसा : बदहाल शिक्षा व्‍यवस्‍था और नीतीश सरकार द्वारा प्रदेश में केंद्रीय विद्यालय निर्माण के लिए एनओसी नहीं देने के अडि़यल रवैये के विरोध में शुक्रवार देर शाम जिला राष्‍ट्रीय लोक समता पार्टी द्वारा वीर कुंवर सिंह चौक से शंकर चौक तक जिला अध्‍यक्ष शिवेन्‍द्र कुमार जीशु के नेतृत्‍व में मशाल जुलूस निकाला गया। साथ ही जुलूस समाप्ति के बाद बिहार के मुख्‍यमंत्री नीतीश कुमार का पुतला भी दहन किया है। इस दौरान रालोसपा प्रधान महासचिव गौरव सिंह, छात्र जिला अध्यक्ष शंकर कुमार, राजेश यादव, चंद्रमोहन सिन्हा और पप्पू सिन्हा सैकड़ों नेता व कार्यकर्ता इस मशाल जुलूस सह पुतला दहन कार्यक्रम में शामिल रहे।बाद में पत्रकारों से बातचीत में रालोसपा जिला अध्‍यक्ष शिवेन्‍द्र कुमार जीशु ने शिक्षा और लॉ एंड ऑर्डर के मामले में नीतीश सरकार पर जमकर हमला बोला। जिशु ने कहा कि प्रदेश में शिक्षा, स्‍वास्‍थ्‍य और सुरक्षा रसातल में पहुंच गया है। काम का दावा कर बिहार में बहार लाने वाले मुख्‍यमंत्री को बताना चाहिए कि उन्‍होंने कौन से काम किये हैं और क्‍या रोज हो रही हत्‍याओं से बिहार में आयेगा बहार ?उन्‍होंने चार दिनों से शिक्षा सुधार आंदोलन के तहत पटना के मिलर स्‍कूल में आमरण अनशन पर बैठे रालोसपा प्रमुख  उपेंद्र कुशवाहा का जिक्र करते हुए नीतीश कुमार पर कई आरोप लगाये। उन्‍होंने कहा कि राष्ट्रीय अध्यक्ष जी का यह अनशन राज्य में शिक्षा की दशा सुधारने के लिए है, जिसे नीतीश सरकार ने गर्त में पहुंचा दिया है। आज प्रदेश में एक भी यूनिवर्सिटी और स्कूल ऐसे नहीं हैं, जहां बच्चों को गुणवत्तापूर्ण शिक्षा मिल रही है। ऐसे में हमारे राज्य और देश का भविष्य कहाँ जा रहा है, इसके लिए सबको सोचना होगा। हद बात ये है कि जब केंद्र में मंत्री रहते श्री कुशवाहा जी ने बिहार के लिए दो केंद्रीय विद्यालय दिए, उसके बाद भी नीतीश सरकार ने उसमें कोई दिलचस्पी नहीं दिखाई। जबकि अन्य राज्यों में स्कूल शुरू भी हो गए। इससे साफ जाहिर होता है कि नीतीश कुमार बिहार के बच्चों को गुणवत्तापूर्ण शिक्षा देने में रुचि नहीं रखते हैं। इसलिए आज हमारे राष्ट्रीय अध्यक्ष जी को हमारे – आपके बच्चों के भविष्य के लिए आमरण अनशन करना पड़ रहा है।वहीं, जीशु ने  सहरसा में दिनदहाड़े हुई गोलीबारी को लेकर भी सरकार और प्रशासन को घेरा। उन्होंने कहा कि बिहार में सरकार के सहयोग से अपराधियों की खुली हुकूमत चल रही है। हत्‍या, लूट, बलात्‍कार आम बात हो गई है। अपराधी कब किसे कहां गोली मार दे, कहा नहीं जा सकता है। इसका एक उदाहरण आज सहरसा में देखने को मिला, जब बुलंद हौसले के साथ अपराधियों ने दिनदहाड़े बीच चौराहे पर गोलू यादव को गोली मार कर हत्‍या करने का प्रयास किया। यह बेहद दुख और खौफनाक घटना है, लेकिन फिर भी प्रशासनिक महकमा ने मामले में तत्‍परता नहीं दिखाई। हालांकि अपराधियों का मंसूबा सफल नहीं हुआ और गोलू यादव खतरे से बाहर हैं, लेकिन रालोसपा एसपी से मांग करती है कि ऐसे अपराधियों पर नकेल कसे जायें और उन पर कार्रवाई कर सख्‍त से सख्‍त सजा दी जाये। इस में रालोसपा नेता गौरव सिंह, C M झा, चंद्रमोहन सिन्हा, पप्पू सिन्हा, पवन झा,विरेन्द्र पोद्दार, जनार्दन यादव, विजय जी,मोहम्द तोहिद, युवा जिला अध्यक्ष सूरज कुमार, आशीष, छात्र जिला अध्यक्ष शंकर कुमार, आशीष कुमार, पंकज कुमार, अंकित आर्या, गोलू जायसवाल, श्याम कुमार सहित अन्य मोजुुद रहे।