शराब बंदी: कारोबारियों में कानून और प्रशासन का भय नही, पकड़ी गई बड़ी खेप

खुटौना (मधुबनी) से रमेश कुमार सिंह की रिपोर्ट

आये दिन मधुबनी जिले के भारत-नेपाल सीमावर्ती थाना क्षेत्रों से लगातार हो रही शराब की बरामदगी शराब बन्दी कानून को मुँह चिढ़ा रहा है। शराब की बड़ी-बड़ी खेपों की बरामदगी से प्रशासन सोचने को विवश है वही शराब करोबारी अपने धंधे से बाज नही आ रहे। पड़ोसी देश नेपाल से तो शराब की खेप धड़ल्ले से भारतीय क्षेत्र में आ रहे हैं। वहीं हरियाण व पश्चिम बंगाल से भी भारी मात्रा में शराब की खेप आ रही है। इस प्रकार सीमावर्ती क्षेत्रों में शराब के फल-फूल रहे कारोबार और पकड़ में आ रहे शराब की खेपें ‘कारोबारियों की ढीठता कहें या पुलिस की विफलता !’ यह एक गम्भीर सवाल है।

गुरुवार की रात खुटौना थाना क्षेत्र के खुशियालपट्टी गांव से किसी ग्रामीण की ख़बर पर पुलिस ने भारी मात्रा में शराब बरामद किया। पुलिस को सूचना मिली कि एक ट्रक से भारी मात्रा में शराब उतारी जा रही है। सूचना पाकर खुटौना थानाध्यक्ष संतोष कुमार मंडल ने त्वरित करवाए करते हुए अपने दल-बल के साथ घटना स्थल पर पहुचे। इससे पहले की पुलिस वहाँ पहुचती कुछ शराब की कार्टून छोटी छोटी गाड़ियों से खपा चुका था। पुलिस की गाड़ी को आते देख कारोबारियों ने 104 कार्टून शराब छोड़ कर वहां से भाग गया। जबकि ट्रक सहित ट्रक चालक दबोच लिया गया।

गौरतलब है कि उक्त शराब की खेप पश्चिम बंगाल के सिलिगुड़ी से लाया गया था। दालखोला के बीच बिधान में भूसी में उक्त कार्टून को अनलोड किया गया। बताते चले कि एनएच 57 से गुजरते हुए फुलपरास के खुटौना वाली सड़क के फुलकाही के पास मुख्य सड़क से ख़ुशियालपट्टी ईदगाह के पास उतारा गया। और जहां से कारोबारी शराब की कार्टून अपने नियत स्थान पर ले जाने की कोशिश कर रहा था। हरराही पुर थाना नैयारबरा जिला भटिंडा पंजाब के रहने वाले जशवीर सिंह को गिरफ्तार कर न्ययायिक हिरासत में भेज दिया गया।
फुलपरास एसडीपीओ सुनीता कुमारी प्रेस वार्ता में कही कि शराब कारोबारियों के सुराग पुलिस को मिला है जिससे कारोबारियों की पहचान हो गई है तथा उसका नाम गोपनीय रखा गया है । मोबाइल लोकेशन के आधार पर कारोबारियों को गिरफ्तार करने की बात कही। बरामद 104 कार्टून में विदेशी आरएस 2496 बोतलें बरामद की गई।