बेखौफ अपराधियों ने आपसी विवाद में गोलू यादव को मारी गोली,हालत गंभीर

58644

अपराधियों के हौसले बुलंद फिर चली गोली, युवक जख्मी

सहरसा : सहरसा सदर थाना क्षेत्र के तिरंगा चौक के समीप बदमाशों ने सुबह करीब 9 बजे के करीब एक युवक को गोली मार कर गंभीर रूप से घायल कर दिया ।घायल युवक पंचवटी चौक निवासी शंकर यादव के 30 वर्षीय पुत्र गोलू यादव बताया गया ।घायल के परिजनों के अनुसार दरअसल गोलु यादव तिरंगा चौक की और से अपने घर पंचवटी चौक आ रहा था। उसी दौरान पहले से घात लगाये अज्ञात अपराधियों ने सीने पर तीन गोलियां दागी और उसके बाद सभी फरार हो गए. सहयोगियों द्वारा आनन-फानन में जख्मी युवक को निजी नर्सिंग होम में भर्ती कराया गया जहाँ स्थिति नाजुक बनी हुई है।वहीं गोलीबारी की घटना सुन पुलिस महकमे में हड़कंप मच गया। घटना की सूचना मिलते ही पुलिस कप्तान राकेश कुमार, सदर अनुमंडल पुलिस पदाधिकारी प्रभाकर तिवारी, सदर थाना सहित जिले के विभिन्न थाना के थानाध्यक्षों ने सूर्या हॉस्पिटल पहुंचकर घायल युवक की स्थिति जानी। इसी दौरान मीडिया कर्मियों से रूबरू होते हुए उन्होंने बताया कि जख्मी युवक को दो गोली लगी जो कि डॉक्टरों द्वारा निकाल लिया गया। जख्मी युवक की स्थिति फिलहाल खतरें से बाहर है। आगे उन्होंने बताया कि गोलीबारी की घटना की वजह प्रथम दृष्टया आपसी विवाद का लगता है।

जानकारी लेते पुलिस कप्तान राकेश कुमार

एक सवाल के जवाब देते हुए उन्होंने कहा की घटना को अंजाम देने वाले युवक का नाम सामने आया है और छापामारी जारी है जल्द ही गोलीकांड में संलिप्त युवकों को गिरफ्तार कर लिया जायेगा।बताते चलें की गोलीबारी की घटना के आक्रोश में लोगों ने शहर के कई चौक – चौराहों पर आगजनी कर गुस्सा जताया और जमकर नारेबाजी भी की।इस दौरान बाजार स्वतः स्फूर्त बंद रहा।

सूर्या हॉस्पिटल पर सदर थानाध्यक्ष राजमणि, नवहट्टा थानाध्यक्ष सुमन कुमार, बिहरा थानाध्यक्ष अरविंद मिश्रा, आई टी सेल के मंगलेश मधुकर, वैजनाथपुर ओ•पी• शिविर प्रभारी संजीव कुमार सहित काफी संख्या में पुलिस बल मौजूद रहे।

पुलिस ने घटना के किसी तरह का कोई उपद्रव न हो और स्थिती नियंत्रण में रहे इसके लिए शहर में भारी पुलिस बल को तैनात कर दिया गया है.बताते चले कि इन दिनों अपराधियों के मनोबल सातवें आसमान पर है। जिसका एक उदाहरण बिहार का सहरसा जिला है। जहां सिर्फ नवंबर महीने में गोलीबारी की घटना से करीब 20 लोगों की मौत हो चुकी है। जिसका मुख्य वजह जमीनी विवाद एवं आपसी विवाद रहा है।