पदाधिकारियों व कर्मियों ने ली संविधान रक्षा की शपथ

1282

इमानदारी के साथ कर्तव्य निर्वहन का संकल्प लिया।

सहरसा:  ज़िला समाहरणालय में प्रभारी जिलाधिकारी की अध्यक्षता में संविधान दिवस के अवसर पर समाहरणालय के पदाधिकारियों व कर्मियों ने संविधान के उद्देश्य को दोहराते हुए भारतीय संविधान के प्रति वफादार रहते हुए इमानदारी के साथ कर्तव्य निर्वहन का संकल्प लिया।

प्रभारी जिलाधिकारी धीरेंद्र कुमार झा के पीछे-पीछे संविधान के उद्देश्य को दोहराया। ज्ञात हो कि संविधान की उद्देशिका के तहत हम भारत के लोग, भारत को एक संपूर्ण प्रभुत्व संपन्न समाजवादी पंथ निरपेक्ष लोकतंत्रात्मक गणराज्य बनाने के लिए तथा उसके समस्त नागरिकों को सामाजिक, आर्थिक और राजनैतिक, न्याय, विचार, अभिव्यक्ति, विश्वास, धर्म और उपासना की स्वतंत्रता प्रतिष्ठा और अवसर की समता प्राप्त करने के लिए तथा उन सब में व्यक्ति की गरिमा और राष्ट्र की एकता सुनिश्चित करने वाली बंधुता बढ़ाने के लिए दृढ़ संकल्प होकर अपनी इस संविधान सभा में 26 नवम्बर 1949 ई. को एतद द्वारा इस संविधान को अंगीकृत अधिनियमित और आत्मार्पित करते हैं।
उक्त पंक्तियों का प्रभारी जिलाधिकारी ने पहले उच्चारण किया और बाद में संविधान सभा में उपस्थित प्रशासनिक व्यक्तियों ने पीछे-पीछे दोहराया।
इस अवसर पर प्रभारी जिलाधिकारी धीरेंद्र कुमार झा ने कहा कि शपथ ग्रहण कार्यक्रम से पदाधिकारियों और कर्मियों के मन में संविधान के प्रति आदर और सम्मान के साथ-साथ कर्तव्य निर्वाह का भी बोध होगा। लोग अपने कर्तव्य के प्रति जागरूक होंगे।